भारतीय क्रिकेट टीम से दरकिनार किए गए अनुभवी सलामी बल्‍लेबाज गौतम गंभीर  अपने अंतिम प्रतिस्‍पर्धी मैच में जीत से विदाई चाहेंगे।

गंभीर ने मंगलवार को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्‍यास लेने की घोषणा की थी। उन्‍होंने कहा था कि दिल्‍ली और आंध्रप्रदेश के बीच गुरुवार से खेला जाने वाला रणजी ट्रॉफी ग्रुप बी मुकाबला उनके करियर का अंतिम प्रतिस्‍पर्धी मैच होगा।

दिल्‍ली की टीम की बागडोर इस समय नीतीश राणा संभाल रहे हैं। मौजूदा रणजी सीजन में दिल्‍ली का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। ऐसे में मेजबान दिल्‍ली अपने घर फिरोजशाह कोटला स्‍टेडियम में जीत के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहेगी।

पढ़ें: दिनेश कार्तिक का फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट से संन्यास लेने का इरादा नहीं

4 अंक के साथ दिल्‍ली अपने ग्रुप में 7वें स्‍थान पर है

दिल्‍ली की टीम ने अब तक 3 मैच खेले हैं। इसमें से दो मैच ड्रॉ रहे हैं जबकि पंजाब के खिलाफ उसे तीसरे मैच में 10 विकेट से करारी शिकस्‍त झेलने पर मजबूर होना पड़ा था। दिल्‍ल के कुल 4 अंक हैं।

गंभीर ने जहां शुरुआत की थी वहीं अपने क्रिकेट करियर को विराम देंगे

37 साल के बाएं हाथ के ओपनर गौतम गंभीर ने मंगलवार को पोस्‍ट किए 11 मिनट के अपने वीडियो में कहा था, ‘आंध्र प्रदेश के खिलाफ अगला रणजी ट्रॉफी मैच मेरा आखिरी मैच होगा। मेरे क्रिकेट सफर का अंत उसी फिरोजशाह कोटला मैदान पर होगा जहां से इसकी शुरूआत हुई थी।’

पढ़ें: बॉक्सिंग डे टेस्ट में वापसी कर सकते हैं चोटिल युवा ओपनर पृथ्‍वी शॉ

330 फर्स्‍ट क्‍लास मैच में 15, 041 रन बना चुके हैं गंभीर

गंभीर ने अब तक 330 फर्स्‍ट क्‍लास मैच खेले हैं जिसमें उन्‍होंने 49.15 के औसत से कुल 15,041 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्‍होंने 42 शतक लगाए हैं। लिस्‍ट ए के 292 पारियों में गंभीर के नाम दस हजार से अधिक रन हैं। इस इस दौरान 21 शतक गंभीर के बल्‍ले से निकले हैं।

हिमाचल प्रदेश के खिलाफ दोनों पारियों में अर्धशतक से चूक गए थे

दिल्‍ली टीम के पूर्व कप्‍तान गौतम गंभीर मौजूदा रणजी सीजन के पहले मैच में हिमाचल प्रदेश के खिलाफ दोनों पारियों में अर्धशतक से चूक गए थे। उन्‍होंने पहली पारी में 44 जबकि दूसरी पारी में 49 रन की पारी खेली थी।

इस मैच से दिल्‍ली ने पहली पारी में बढ़त के आधार पर 3 अंक हासिल किए थे। चोट की वजह से गंभीर हैदराबाद के खिलाफ दूसरे मैच में नहीं खेल पाए थे। इस मैच से दिल्‍ली को एक अंक हासिल हुआ था।

चोट के बाद गंभीर ने पंजाब के खिलाफ वापसी की थी। इस मैच की पहली पारी में वो सिर्फ एक रन बनाकर पवेलियन लौट गए थे लेकिन दूसरी पारी में उन्‍होंने 60 रन बनाए। हालांकि अपनी इस जूझारू पारी के बावजूद वो अपनी टीम दिल्‍ली को जीत नहीं दिला सके। इस मैच को पंजाब ने 10 विकेट से अपने नाम किया था।

इस मैच को यादगार बनाना चाहेंगे गंभीर

दिल्‍ली के खिलाड़ी गंभीर इस मैच में बड़ी पारी खेल यादगार बनाना चाहेंगे। उनके पास आखिरी मैच में शानदार प्रदर्शन करने का मौका है।