ग्राहम फोर्ड © AFP
ग्राहम फोर्ड © AFP

टीम इंडिया के कोच अनिल कुंबले के इस्तीफे के बाद अब श्रीलंका की टीम के कोच ग्राहम फोर्ड ने भी इस्तीफा दे दिया है। 15 महीनों तक श्रीलंका की टीम के साथ जुड़े रहने के बाद शनिवार को ग्राहम फोर्ड ने टीम को अलविदा कह दिया। द.अफ्रीका के ग्राहम फोर्ड ने श्रीलंका को 2012 से लेकर 2014 तक कोचिंग दी थी और इसके बाद वो फरवरी 2016 में एक बार फिर श्रीलंका की टीम से जुड़े थे और उनका करार साल 2019 के वर्ल्ड कप तक का था, लेकिन निजी कारणों के चलते फोर्ड ने अपना पद बीच में ही छोड़ दिया।

56 साल के ग्राहम फोर्ड की अगुवाई में श्रीलंकाई टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट और टी-20 सीरीज जरूर जीती लेकिन टीम लगातार अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रही। श्रीलंका की टीम को द.अफ्रीका में व्हाइट वॉश झेलना पड़ा तो वहीं बांग्लादेश से उसे पहली बार टेस्ट में हार मिली। चैंपियंस ट्रॉफी में भी श्रीलंकाई टीम सेमीफाइनल तक जगह नहीं बना पाई।

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड अध्यक्ष थलिंगा सुमाथिपाला ने फोर्ड के इस्तीफे के बाद कहा, ‘श्रीलंका क्रिकेट में फोर्ड के योगदान के लिए हम उनके आभारी हैं। काफी सोच विचार के बाद फोर्ड ने अपना पद छोड़ने का फैसला किया है जिसमें हमारी भी सहमति है। हमें उनके पद छोड़ने से बुरा भी लग रहा है। हम फोर्ड को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हैं।’ ये भी पढ़ें-कोच की गैरमौजूदगी में एमएस धोनी देंगे ‘कोचिंग’?

आपको बता दें ग्राहम फोर्ड इंग्लिश काउंटी क्लब सरे के लिए काम कर चुके हैं और साथ में वो केंट के भी क्रिकेट डायरेक्टर थे। फोर्ड ने अपने पद छोड़ने के बाद बयान दिया, ’15 महीनों तक श्रीलंका के होनहार खिलाड़ियों के साथ काम करना शानदार रहा। क्रिकेट के लिए उनका जुनून काबिलेतारीफ है। मैं चाहता हूं कि श्रीलंका की टीम भविष्य में अच्छा प्रदर्शन करें। श्रीलंका की टीम खुद पर विश्वास रखे और दिल से क्रिकेट खेले।’