gujarat titans win ipl 2022 beating rajasthan royals in final by 7 wickets
गुजरात बनी चैंपियन @IPL

अहमदाबाद: हार्दिक पंड्या ने कप्तान की भूमिका निभाई। गेंद और बल्ले दोनों से कमाल किया। उनके हरफनमौला खेल की मदद से गुजरात टाइटंस ने राजस्थान रॉयल्स को सात विकेट से हराकर पहली बार में इंडियन प्रीमियर लीग पर कब्जा कर लिया।

19वें की पहली ही गेंद पर ओबेद मैकॉय को छक्का जड़कर शुभमन गिल ने जब जीत की औपचारिकता पूरी की तो एक लाख से अधिक दर्शकों की तालियों और शोर से नरेंद्र मोदी स्टेडियम गूंज उठा । एक नयी नवेली टीम को दुनिया की इस सबसे लुभावनी क्रिकेट लीग का सिरमौर बनाने का श्रेय किसी को जाता है तो उसके ‘कैप्टन कूल’ हार्दिक पंड्या को ।

गेंदबाजी में पंड्या का दम

पहले गेंदबाजी में चार ओवर में 17 रन देकर तीन विकेट लेते हुए उन्होंने रॉयल्स को नौ विकेट पर 130 के स्कोर पर रोक दिया । जवाब में दो विकेट जल्दी गिरने पर 30 गेंद में 34 रन बनाकर टीम को दबाव से निकाला । टाइटंस ने 11 गेंद और सात विकेट बाकी रहते मैच जीत लिया ।

जल्दी विकेट गिरे, पर गिल ने संभाला

गिल 43 गेंद में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 45 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि डेविड मिलर ने सिर्फ 19 गेंद में 32 रन बनाये जिसमें तीन चौके और एक छक्का शामिल था । गुजरात ने रिधिमान साहा (पांच) और मैथ्यू वेड (आठ) के विकेट जल्दी गंवा दिये थे ।

सैमसन ने चुनी बैटिंग

इससे पहले राजस्थान के कप्तान संजू सैमसन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया हालांकि उनका कोई भी बल्लेबाज टिककर खेल नहीं सका । वहीं अपने घरेलू मैदान पर एक लाख से अधिक दर्शकों के सामने गुजरात के गेंदबाजों ने उन पर दबाव बना दिया । जोस बटलर (35 गेंद में 39) और यशस्वी जायसवाल (16 गेंद में 22 रन) के बल्ले से ही कुछ रन निकल सके ।

राशिद ने भी कसी लगाम

हार्दिक ने चार ओवर में सिर्फ 17 रन देकर तीन विकेट लिए जबकि अफगानिस्तान के लेग स्पिनर राशिद खान ने बेहद किफायती गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में सिर्फ 18 रन देकर एक विकेट लिया ।

शमी पर जायसवाल ने लिया जोखिम

मोहम्मद शमी की रफ्तार और स्विंग के आगे सहज होकर नहीं खेल पा रहे जायसवाल ने जोखिम लेने में कसर नहीं छोड़ी । उन्होंने शमी को कवर में छक्का जड़ा और यश दयाल को लांग लेग पर छक्का लगाया। अधिक ऊंचे शॉट खेलने के प्रयास में वह डीप में कैच दे बैठे।

बटलर भी खुलकर नहीं खेल पाए

आरेंज कैपधारी बटलर और सैमसन अब क्रीज पर थे। राशिद खान के खिलाफ दोनों को होने वाली असुविधा को ध्यान में रखकर हार्दिक ने पावरप्ले में ही इस अनुभवी स्पिनर को गेंद सौंप दी। बटलर और सैमसन ने राशिद को संभलकर खेला और पावरप्ले में स्कोर एक विकेट पर 44 रन था।

सैमसन-बटलर लौटे

फॉर्म में चल रहे बटलर ने लॉकी फर्ग्युसन को लगातार दो चौके लगाए। सैमसन को हार्दिक ने अपनी दूसरी ही गेंद पर पवेलियन भेज दिया। उन्हें पुल शॉट खेलने के प्रयास में सैमसन ऑफ साइड में कैच दे बैठे। देवदत्त पडिक्कल ने खाता खोलने में आठ गेंदें ली और दो रन बनाकर लौट गए।

इसके तीन गेंद बाद बटलर भी अपना विकेट गंवा बैठे । पडिक्कल को राशिद ने और बटलर को हार्दिक ने रवाना किया । हार्दिक ने शिमरोन हेटमायेर को भी पवेलियन भेजा और अब राजस्थान का स्कोर पांच विकेट पर 94 रन था ।

रविचंद्रन अश्विन के आउट होते ही राजस्थान की वापसी की उम्मीदें खत्म हो गई । शमी ने बेहतरीन यॉर्कर पर रियान पराग को आउट किया ।