Had I been playing regularly, rhythm would not have been an issue: Kuldeep Yadav
कुलदीप यादव (BCCI)

भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव के लिए इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज काफी निराशाजनक रही। पुणे में खेली गई तीन मैचों की सीरीज में इस चाइनामैन गेंदबाज को एक भी सफलता नहीं मिली। कुलदीप का कहना है कि उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ सही लेंथ पर गेंदबाजी करने में मुश्किल हो रही थी और इसके पीछे का कारण है उन्हें लगातार मौके ना मिल पाना।

मिड-डे को दिए इंटरव्यू में कुलदीप ने कहा कि अगर उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में लगातार मौके मिले होते तो बेहतर लय में दिखते।

इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के बारे में कुलदीप ने कहा, “बेहतर होता अगर मैं अपनी लेंथ पर ध्यान देता। अगर आप लगातार खेलते हैं तो आपको लेंथ के बारे में जानकारी होती है और आप ये जल्दी समझ जाते हैं कि आपको कौन सी लेंथ डालनी है। लेकिन जब आप ब्रेक के साथ खेल रहे होते तो लेंथ कभी कभी थोड़ी शॉर्ट हो सकती है। अगर मैं अपनी लेंथ पर मेहनत करता हूं, तो इससे मुझे बेहतर गेंदबाजी करने में मदद मिलेगी। मेरे कोच को भी यही लगता है।”

कौन है IPL इतिहास का सबसे युवा कप्‍तान ? यहां देखें पूरी लिस्‍ट

कुलदीप ने आगे कहा, “पहला मैच मेरे लिए काफी अहम था चूंकि मैं काफी लंबे समय बाद खेल रहा था। उस मैच में मैं लय में नहीं आ पाया। अगर मैं लगातार खेल रहा होता, तो लय समस्या नहीं होती। मैंने पहले ओवर के बाद अच्छी वापसी की। दूसरे मैच में मैंने बेहतर गेंदबाजी की। बात ये थी कि पिच से किसी तरह की मदद नहीं मिल रही थी, इसलिए मुझे मनचाहे नतीजे नहीं मिली।”

उन्होंने कहा, “बेन स्टोक्स ने मेरे खिलाफ आक्रामक बल्लेबाजी की क्योंकि मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या लेंथ डालूं। मुझे बैंक ऑफ द लेंथ गेंदबाजी करनी चाहिए थी। सपाट पिचों पर लेंथ अहम होती है। वनडे सीरीज में स्पिन गेंदबाजों को काफी परेशानी हो रही थी, सभी को रन पड़े।”

इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज खत्म करने के बाद कुलदीप अपने घर कानपुर लौट आए रहैं और अपन कोच कपिल पांडे से साथ काम कर रहे हैं। कुलदीप फिलहाल इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन की तैयारी में लगे हैं।