Hamstring is feeling absolutely fine, getting it nice and strong Before I play Test: Rohit Sharma
रोहित शर्मा (IANS)

ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले हैमस्ट्रिंग इंजरी को लेकर हो रहे विवाद पर रोहित शर्मा ने कहा कि उन्हें हमेशा से पता था कि उनकी चोट इतनी गंभीर नहीं है और वो टेस्ट सीरीज से पहले मैदान पर उतरने के लिए तैयार हो जाएंगे।

शुक्रवार को बैंगलोर स्थित बीसीसीआई की नेशनल क्रिकेट अकादमी पहुंचे रोहित ने पीटीआई से इंजरी विवाद पर खुलकर बात की। उन्होंने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं पता कि क्या हो रहा है और लोगो इस बारे में क्या बात कर रहे हैं लेकिन मैं ये बात रिकॉर्ड में दर्ज करवाना चाहूंगा कि मैं बीसीसीआई और मुंबई इंडिंयस टीम से लगातार संपर्क में था।”

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वे सीजन के दौरान चोटिल हुए रोहित चार मैचों के लिए मुंबई इंडियंस की प्लेइंग इलेवन से बाहर रहे थे। इसी बीच बीसीसीआई ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने वाली भारतीय टीम का ऐलान किया, जहां रोहित को वनडे, टी20 या टेस्ट किसी स्क्वाड में जगह नहीं मिली थी।

टीम इंडिया के लिए अलग-अलग कप्तान बनाए जाने को लेकर कपिल देव ने कही बड़ी बात

जिसके बाद रोहित की चोट की गंभीरता को लेकर चर्चा होने लगी। वहीं फाइनल मैच से एक दिन पहले रोहित को टेस्ट स्क्वाड में शामिल किया गया। रोहित ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ आईपीएल फाइनल मैच में 50 गेंदो पर 68 रनों की मैचविनिंग पारी खेल मुंबई को पांचवां खिताब जिताया।

मुंबई इंडियंस के कप्तान ने कहा, “मैंने उनसे (मुंबई टीम मैनेजमेंट) कहा था कि मैं खेल सकता हूं क्योंकि ये छोटा फॉर्मेट है और मैं स्थिति को अच्छे से मैनेज कर सकूंगा। एक बार मेरी सोच स्पष्ट था, बात केवल अपने काम पर ध्यान देने की थी।”

चोट को लेकर रोहित ने कहा, “हैमस्ट्रिंग ठीक है। उसे मजबूत करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। लंबा फॉर्मेट खेलने से पहले, मुझे ये सुनिश्चित करना होगा कि कुछ भी बाकी नहीं रह गया है। इसी कारण से मैं एनसीए में हूं।”

आईपीएल में विराट कोहली से आंखों की तकरार पर यह बोले सूर्यकुमार यादव

भारतीय सलामी बल्लेबाज ने कहा मैदान के बाहर उनकी इंजरी को लेकर जो चर्चा हो रही है, वो उससे प्रभावित नहीं होते। उन्होंने कहा, “मेरे लिए ये परेशानी की बात नहीं कि कोई मेरे बारे में क्या बात कर रहा है, कि मैं ऑस्ट्रेलिया जा पाऊंगा या नहीं। एक बार इंजरी हुई, अगले दो दिन मैंने ये सोचा कि आने वाले दस दिनों में मैं क्या कर सकता हूं।”

उन्होंने कहा, “लेकिन हैमस्ट्रिंग (इंजरी) में हर दिन बदलाव आ रहा था। ये जिस तरह से प्रतिक्रिया कर रहा था, वो भी बदल रहा था। इसलिए मुझे विश्वास था कि मैं खेल सकता हूं और मुंबई मैनेजमेंट से मेरी यही बात हुई थी। मैंने उनसे कहा था कि मैं प्लेऑफ से पहले खेलने के लिए तैयार रहूंगा। अगर कोई परेशानी हुए तो मैं प्लेऑफ नहीं खेलूंगा।”

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज 17 दिसंबर को शुरू होनी है और 14 दिन के अनिवार्य क्वारेंटीन नियम को ध्यान में रखते हुए रोहित के पास फिटनेट टेस्ट पास करने के लिए दो हफ्तों का समय है।

इस बारे में रोहित ने कहा, “जाहिर है कि अभी मेरे हैमस्ट्रिंग पर कुछ काम करना बाकी है। इसी वजह से मैं सीमित ओवर फॉर्मेट सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया नहीं जा रहा हूं क्योंकि वो मैच लगातार होने हैं, 11 दिन में लगभग 6 मैच। इसलिए मैंने सोचा कि मुझे अपनी फिटनेस पर काम करने के लिए 25 दिन मिलेंगे, तो मैं जाकर टेस्ट मैच खेल पाउंगा। इसलिए ये फैसला मेरे लिए बहुत आसान था और मुझे नहीं पता कि बाकियों के लिए इसे समझना इतना मुश्किल क्यों हो रहा है।”