Hanuma Vihari says want to contribute as a batting all rounder
Hanuma Vihari @ians

इंग्लैंड दौरे से इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले भारत के ऑलराउंडर खिलाड़ी हनुमा विहारी ने मैच में बल्ले के साथ गेंद से भी कमाल दिखाया था। पहले टेस्ट में तीन विकेट हासिल करने वाले हनुमा टीम में बतौर बैटिंग ऑलराउंडर योगदान देना चाहते हैं।

हनुमा ने पिछले साल सितंबर में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच से अपने डेब्यू किया था। ओवल, लंदन में खेले गए अपने पहले ही टेस्ट मैच में अर्धशतक लगाने के साथ-साथ उन्होंने तीन विकेट भी हासिल किए थे। हनुमा टीम में ऑलराउंडर के रूप में खेलते हैं। लेकिन उनका कहना है कि मुख्य रूप से वह एक बल्लेबाज हैं और कभी-कभी ही गेंदबाजी करते हैं। वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के इस सीजन में दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलेंगें।

पढ़ें:- आईपीएल के जरिए लोगों को गलत साबित करना चाहते हैं हनुमा विहारी

हनुमा ने आईएएनएस बातचीत में कहा, “ईमानदारी से कहूं तो मुझे लगता है कि मुख्य रूप से मैं एक बल्लेबाज हूं, जो थोड़ी बहुत गेंदबाजी भी कर सकता है। मेरी गेंदबाजी थोड़ी अच्छी हो जाती है, इसलिए मैं इसमें सुधार करने का प्रयास करता हूं।”

हनुमा ने भारत के लिए अब तक चार टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 167 रन बनाने के अलावा पांच विकेट भी चटकाए हैं। उन्होंने कहा, “मैं ज्यादा गेंदबाजी नहीं करता, इसलिए मैं नेट पर रोजाना गेंदबाजी का अभ्यास भी नहीं करता हूं। हां, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में मैंने नेट पर गेंदबाजी का अभ्यास किया था।”

पढ़ें:- ‘दुनिया के बेस्ट गेंदबाजों का सामना कर और भी बेखौफ हो गया हूं’

हनुमा ने इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने के बाद से अब तक के अपने प्रदर्शन पर संतोष व्यक्त किया।

उन्होंने कहा, “पिछले छह महीने मेरे लिए बेहद शानदार रहे हैं। इंग्लैंड में जब मैंने इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था उसके बाद से ऑस्ट्रेलिया में और फिर ईरानी कप में 200 रन बनाना मेरे लिए शानदार रहा है। लेकिन मेरे लिए मेरा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर काफी महत्वपूर्ण है।”

ऑलराउंडर खिलाड़ी ने साथ ही कहा, “मैंने एक मुश्किल परिस्थितियों में इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत की। मैंने उस सीरीज से काफी कुछ सीखा और फिर उसके बाद की सीरीज में अच्छा किया।”

आईपीएल के आने से खिलाड़ी अब इसमें अच्छा प्रदर्शन करते हैं और फिर राष्ट्रीय टीम में जगह बनाते हैं। लेकिन हनुमा उन खिलाड़ियों में से हैं, जिन्होंने घरेलू क्रिकेट में अच्छा कर राष्ट्रीय टीम में जगह बनाया है।

हनुमा ने कहा, “अगर आपका भारतीय टीम में खेलना का सपना है तो आपको सब चीजों से गुजरना होगा। टेस्ट क्रिकेट खेलना मेरा सपना था। टेस्ट क्रिकेट भी आप तभी खेल सकते हैं जब आपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में नियमित रूप से लगातार अच्छा प्रदर्शन किया हो।”

हैदराबाद के हनुमा अब तक 70 प्रथम श्रेणी मैचों में 5759 रन बनाए हैं और 25 विकेट भी हासिल किए हैं। इसके अलावा उन्होंने 67 लिस्ट-ए मैचों में 2703 रन बनाने के अलावा 17 विकेट भी अपने नाम किए हैं।

उन्होंने कहा, “मैं अब तक के अपने करियर से संतुष्ट हूं। जब मुझे आईपीएल के दूसरे साल में निकाल दिया गया था तब मैंने खुद से कहा था कि मेरे लिए आईपीएल की टीम कभी नहीं बदली है। अगर मैं भारतीय टीम में अच्छा करता हूं तो आईपीएल में फिर से खेल सकता हूं और ठीक वैसा ही हुआ।”

हनुमा आईपीएल में इससे पहले सनराइजर्स हैदराबाद टीम के लिए खेल चुके हैं और अब वह पहली बार दिल्ली टीम का हिस्सा बने हैं। वह तीन साल बाद आईपीएल में वापसी कर रहे हैं।

हरफनमौला खिलाड़ी ने कहा, “दिल्ली की टीम के साथ यह मेरा पहला आईपीएल है और इसे लेकर मैं बेहद उत्साहित हूं। यह मेरे लिए एक नई सीजन है। इसमें कई सारे युवा खिलाड़ी हैं जिनके साथ खेलने को लेकर मैं उत्सुक हूं।”

टीम में अपनी बल्लेबाजी क्रम को लेकर उन्होंने कहा, “शीर्षक्रम में बल्लेबाजी करना मेरी प्राथमिकता होती है लेकिन मैं किसी भी नंबर पर बल्लेबाजी कर सकता हूं। ईमानदारी से कहूं तो मेरे लिए यह ज्यादा मायने नहीं रखता है कि मैं किस नंबर पर बल्लेबाजी कर रहा हूं। टीम प्रबंधन मुझे जिस किसी भी नंबर पर भेजते हैं मैं उस नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हूं।”