Happy Birthday Sunil Gavaskar: Sunil Gavaskar would never want to miss his innings
TWITTER/RCB

भारतीय क्रिकेट को नई ऊचाईयों तक पहुंचाने में कई दिग्गज खिलाड़ियों का योगदान है लेकिन सुनील गावस्कर पहले ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्होंने टीम इंडिया को विदेशी धरती पर लड़ना सिखाया। जब टीम इंडिया के बल्लेबाज वेस्टइंडीज और इंग्लैंड में खतरनाक गेंदबाजों के खिलाफ संघर्ष करते नजर आते थे, तो गावस्कर अकेले एक छोर संभाले रन बनाने के लिए जाने जाते थे। ऐसे विरले खिलाड़ी थे गावस्कर जो आज अपना 73वां जन्मदिन मना रहे हैं।

गावस्कर के नाम अपनी पहली टेस्ट सीरीज में 700 से ज्यादा रन बनाने से लेकर टेस्ट में सबसे पहले 10 हजार रन पूरे करने जैसे कई अनोखे रिकॉर्ड दर्ज है। लेकिन एक ऐसा रिकॉर्ड भी है जिसे वो शायद कभी याद नहीं करना चाहेंगे। जी हां, गावस्कर के नाम वनडे क्रिकेट इतिहास की सबसे धीमी पारी खेलने का रिकॉर्ड है जो उन्होंने 1975 में खेले गए पहले वनडे वर्ल्ड कप में बनाया था।

गावस्कर ने इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स स्टेडियम में 334 रनों के स्कोर का पीछा करते हुए 174 गेंद खेलने के बावजूद सिर्फ 36 रन बना पाए जिसमें सिर्फ 1 चौका आया था। यही नहीं, उन्हें अंत तक कोई गेंदबाज आउट भी नहीं कर पाया यानी वो नाबाद रहे। इस दौरान उनका स्ट्राइकरेट 20.69 का रहा। गावस्कर की धीमी पारी का नतीजा ये हुआ कि भारतीय टीम 202 रन के बड़े अंतर से ये मुकाबला हार गई। बता दें, गावस्कर की ये पारी वनडे क्रिकेट के इतिहास की सबसे धीमी पारियों में शुमार है।

गौरतलब है कि सुनील गावस्कर के नाम कुल 125 टेस्ट मैचों में 51 के शानदार औसत और 34 शतकों की मदद से 10,122 रन दर्ज हैं। गावस्कर 108 वनडे इंटरनेशनल में में 35.13 की औसत से 3092 रन बनाने में भी सफल रहे जिसमें एक शतक भी शामिल हैं।