Happy with my performance, keeping things simple helped: Arshdeep
Twitter/BCCI

तारोबा। भारत के युवा तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह का मानना है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले T20I मैच में विविधता पूर्ण गेंदबाजी करने विशेषकर धीमी गेंदे करने का उन्हें फायदा मिला और वह यादगार वापसी करने में सफल रहे। अर्शदीप ने चार ओवर में 24 रन देकर दो विकेट लिए। उन्होंने अपना पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच इस महीने के शुरू में इंग्लैंड के खिलाफ साउथम्पटन में खेला था।

अर्शदीप ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह अच्छा अनुभव था। मैं अपने प्रदर्शन से खुश हूं। टीम जीतने में सफल रही इसलिए यह खुशी दोगुनी हो गई। मैं लंबे समय बाद खेल रहा था। मैं केवल पारस (म्हाम्ब्रे) सर के साथ काम करके अपनी गेंदबाजी में सुधार करना चाहता हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है की चीजों को सरल बनाए रखना, विकेट का अधिक उपयोग करना, धीमी गेंदों का उपयोग करना और अपनी यार्कर का इस्तेमाल करना मेरे लिए फायदेमंद साबित हुआ।’’ भारत के लिए अपना दूसरा मैच खेलने वाले अर्शदीप ने कहा कि उन्हें टीम में अपनी भूमिका पता है।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपनी भूमिका और जिम्मेदारियों से अच्छी तरह वाकिफ हूं। टीम प्रबंधन और कप्तान दोनों ने मुझे एक गेंदबाज के रूप में मेरी भूमिका के बारे में बता दिया था।’’ अर्शदीप ने कहा, ‘‘इससे मुझे अपनी भूमिका को लेकर स्पष्टता और आत्मविश्वास मिला और फिर मैंने उसी अनुसार अपनी रणनीति तय की। भुवी भाई (भुवनेश्वर कुमार) ने दूसरी तरफ से दबाव बना बनाए रखा। इससे मुझे विकेट लेने में मदद मिली।’’

काइल मायर्स ने अर्शदीप के पहले ओवर में छक्का और चौका लगाया लेकिन यह गेंदबाज चौथी गेंद पर बदला चुकता करने में सफल रहा। अर्शदीप ने कहा , ‘‘वह (मायर्स) शुरू से ही आक्रामक होकर खेल रहा था और ऐसे में वह बाउंसर पर लंबा शॉट खेल सकता था। मुझे लगा कि मुझे इस तरह की गेंद करनी चाहिए और मुझे उसका फायदा मिला।’’

इस 23 वर्षीय गेंदबाज ने दिनेश कार्तिक की भी सराहना की जिनकी धुआंधार पारी से भारत छह विकेट पर 190 रन का मजबूत स्कोर खड़ा करने में सफल रहा। वेस्टइंडीज इसके जवाब में आठ विकेट पर 122 रन ही बना पाया। इस तरह से भारत ने 68 रन से जीत दर्ज करके पांच मैचों की श्रृंखला में शुरुआती बढ़त हासिल की।

अर्शदीप ने कहा, ‘‘डीके (कार्तिक) भाई ने शानदार पारी खेली और गेंदबाजों को अच्छा स्कोर बचाव करने के लिए दिया। गेंदबाजी इकाई के रूप में हमने सही क्षेत्र में गेंदबाजी की। ’’