Harbhajan Singh: Chepauk Pitch was difficult but not unplayable
हरभजन सिंह (IANS)

चेपॉक स्टेडियम की धीमी पिच की भले ही काफी आलोचना हो रही हो लेकिन अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा कि विकेट पर बल्लेबाजी करना मुश्किल था, पर इस पर खेला जा सकता था। बेंगलुरू की टीम 17.1 ओवर में 70 रन पर आउट हो गई थी जबकि चेन्नई ने 17.1 ओवर में लक्ष्य हासिल कर सात विकेट से जीता। चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और बेंगलुरू के कप्तान विराट कोहली ने मैच के बाद विकेट से निराशा व्यक्त की थी।

ये भी पढ़ें: महेंद्र सिंह धोनी ने जीत के बाद भी विकेट से जताई नाराजगी

धोनी ने कहा, ‘‘मैंने इस विकेट के ऐसे बर्ताव करने की उम्मीद नहीं थी जैसा इसने किया। ये बहुत ही धीमा था। हम सच में काफी हैरान थे कि ये विकेट कितना धीमा है। इससे मुझे 2011 में चैंपियंस लीग के विकेट की याद आ गई।’’

ये भी पढ़ें: हार के बाद कोहली बोले, ”कोई भी टीम ऐसी शुरुआत नहीं चाहेगी”

भारतीय टीम के कप्तान कोहली ने कहा, ‘‘विकेट देखने में खेलने से ज्यादा बेहतर लग रहा था। किसी ने भी नहीं सोचा था कि ये विकेट इस तरह का बर्ताव करेगा जैसा इसने किया। हमने सोचा 140-150 रन के करीब का स्कोर आदर्श होगा क्योंकि बाद में ओस का असर पड़ेगा। लीग की शुरूआत काफी नीरस रहीं। अगर आपको ऐसा विकेट मिलेगा तो ऐसा ही होगा।’’

170-180 रन बनने पर क्यों कोई शिकायत नहीं करता?

हालांकि चेन्नई के सीनियर स्पिनर हरभजन सिंह ने कोहली और धोनी के बयान से ऐतराज जताया। प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा, ‘‘ये बल्लेबाजी करने के लिए मुश्किल पिच थी लेकिन ऐसा नहीं था कि इस पर खेला नहीं जा सकता था। हम अच्छे विकेटों पर मैच देखने के इतने आदी हो गए हैं कि जब लोग 170-180 रन का स्कोर बनाते हैं तो कोई भी शिकायत नहीं करता। लेकिन अगर ये थोड़ी स्पिन या सीम लेती है तो हर किसी को समस्या हो जाती है और कहते हैं कि ऐसा क्यों हो रहा है?’’