Harbhajan Singh says 38 changes in 38 Tests is too much
Ravi Shastri with Harbhajan Singh © Getty Images

विराट कोहली की कप्तानी में 38 टेस्ट खेल चुकी टीम इंडिया हर बार नए प्लेइंग इलेवन के साथ मैदान पर उतरी है। भारत के अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा 38 टेस्ट में 38 बदलाव बहुत ज्यादा है लेकिन विराट एंड कंपनी अगर नतीजे दे रही है तो इससे फर्क नहीं पड़ता।

हरभजन ने कहा, ‘‘निजी तौर पर मेरा मानना है कि 38 टेस्ट में 38 बदलाव कुछ ज्यादा है। लेकिन हर कप्तान अलग होता है और हर टीम की जरूरत अलग होती है। जरूरत के अनुसार खिलाड़ी चुने जाते हैं और यह रणनीति उनके लिए कारगर साबित हो रही है।’’

उन्होंने कहा ,‘‘ वे दक्षिण अफ्रीका में सीरीज जीतने के करीब पहुंचे और इंग्लैंड में सीरीज में वापसी की। यदि कप्तान को इस पर भरोसा है और प्रबंधन तथा खिलाड़ी राजी है तो क्या फर्क पड़ता है।’’

कोहली इस सीरीज में शानदार प्रदर्शन करते हुए अभी तक दो शतक बना चुके हैं। उनकी तारीफ करते हुए हरभजन ने कहा, ‘‘उसने इंग्लैंड के हालात में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए काफी मेहनत की है। गेंद को छोड़ने और खेलने को लेकर भी उसने काफी अनुशासन बरता है। वह शानदार बल्लेबाज है और मैने ऐसे बहुत कम बल्लेबाज देखे हैं जो दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में बल्लेबाजी  को इतना आसान बना देते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘विराट की सबसे बड़ी खूबी यह है कि वह जीतने के लिए ही खेलता है, हालात चाहे जो भी हो। ऐसे में कुछ मैच हार भी जाते हैं लेकिन लय में आने पर अधिक जीत मिलती है।’’