Harbhajan Singh: This hat-trick belongs to Virat Kohli as much as Jasprit Bumrah
जसप्रीत बुमराह की हैट्रिक का जश्न मनाते कप्तान विराट कोहली और भारतीय टीम (AFP)

सीनियर भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि जसप्रीत बुमराह अपनी पहली टेस्ट हैट्रिक के लिए कप्तान विराट कोहली के एहसानमंद रहेंगे क्योंकि भारतीय कप्तान के सही अंदाजे की वजह से उन्हें रोस्टन चेज का विकेट मिला था।

टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज ने बुमराह की काफी तारीफ की। बुमराह हरभजन और इरफान पठान के बाद टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय हैं।

पीटीआई से बातचीत में हरभजन ने कहा, “ये हैट्रिक जितनी बुमराह की है, उतनी ही विराट की भी है। गेंदबाज को भरोसा नहीं था लेकिन कप्तान को अंदेशा था। क्या होता अगर विराट डीआरएस नहीं लेता तो? ये कप्तान की शानदार कॉल थी जिससे उसके (बुमराह) कड़े प्रयास को मदद मिली।”

हनुमा विहारी के शतक के बाद जसप्रीत बुमराह की हैट्रिक से मुश्किल में फंसा वेस्‍टइंडीज

हरभजन ने कहा कि इसी तरह वो भी अपनी हैट्रिक के लिए सदगोपन रमेश के आभारी है, जिन्होंने शॉर्ट लेग पर शानदार कैच पकड़ा था। हरभजन ने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में रिकी पॉन्टिंग, एडम गिलक्रिस्ट और शेन वार्न को आउट कर भारत के लिए पहली टेस्ट हैट्रिक दर्ज की थी।

उस मैच को याद करते हुए हरभजन ने कहा, “मुझे अब भी याद है कि दादा (तत्कालीन कप्तान सौरव गांगुली) और मैंने (गेंद को) स्टंप्स पर रखने का फैसला किया और थर्ड लेग (की तरफ खिलाने) की कोशिश की लेकिन वार्न ने उसे फ्लिक कर दिया।”

उन्होंने आगे कहा, “ईमानदारी से कहूं तो रमेश हमारा सबसे अच्छा फील्डर नहीं था। लेकिन फिर भी फॉरवर्ड शॉर्ट लेग पर उसने बेहद कम रिएक्शन टाइम में शानदार कैच पकड़ा। उसके बाद मैं जब भी रमेश से मिला, मैं उससे हमेशा कहता था कि ‘दोस्त, मेरी हैट्रिक तुम्हारी है’। मैंने राहुल (द्रविड़) को इतना खुश कभी नहीं देखा था। शायद उसे भी नहीं लगा था कि रमेश ऐसा कैच ले सकता है।”

जसप्रीत बुमराह ने ली करियर की पहली हैट्रिक, बने ऐसा करने वाले तीसरे भारतीय

भारत के लिए 711 विकेट ले चुके इस स्पिनर ने कहा, “मेरा मानना है कि कुछ चीजें इस तरह से एक दूसरे के साथ जुड़ती हैं कि कुछ खूबसरत हो जाता है। तब ये रमेश का कमाल था और आज ये विराट का सही अनुमान था।”

हरभजन ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक जितनी दुर्लभ है उसकी प्रशंसा भी उतना ज्यादा होती है। उन्होंने कहा, “हैट्रिक की हमेशा ही तारीफ होती है लेकिन जब ये टेस्ट क्रिकेट में होती है तो इसकी विश्वसनीयता बढ़ जाती है।”

उन्होंने आगे कहा, “वनडे में आपके पास डेथ ओवर में हमेशा ही मौका रहता है- कहें तो 47 और 50 ओवर के बीच, जब बल्लेबाज अटैक करते हैं। अगर वो अटैक करते हैं आपको हमेशा ही डीप में कैच की उम्मीद रहती है। लेकिन टेस्ट क्रिकेट में ऐसा नहीं है। बल्लेबाज हमेशा अटैक करने की नहीं सोचते। डिफेंस और मजबूत होता है और काबिलियत काम आती है। आप बुमराह की गेंदो को देखें। उसकी लेंथ और जिस तरह से वो (गेंद) गिर रही थी। ये विशुद्ध प्रतिभा है।”

हनुमा विहारी ने पहला टेस्ट दिवंगत पिता को समर्पित किया, कहा- उम्मीद हैं उन्हें मुझ पर गर्व है

बुमराह की इस शानदार गेंदबाजी के सामने विंडीज टीम ने दूसरे दिन मात्र 87 रन पर सात विकेट खो दिए। जिससे एक बार फिर कैरेबियन बल्लेबाजों की आलोचना की शुरुआत हुई। हालांकि हरभजन ने वेस्टइंडीज की बल्लेबाजी पर सवाल उठाने से इंकार कर दिया।

उन्होंने कहा, “जाहिर है कि सर विव रिचर्ड्स और ब्रायन लारा हमेशा नहीं खेलने वाले। वो अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम खिला रहे हैं, वही टीम जिसने इसी साल इंग्लैंड को हराया था। और बुमराह फिलहाल विश्व का सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज है।”