दाएं कंधे में चोट के चलते टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं हार्दिक पंड्या।  ©Getty Images
दाएं कंधे में चोट के चलते टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं हार्दिक पंड्या। ©Getty Images

भारतीय टीम पिछले काफी समय के खिलाड़ियों की चोटों से परेशान है, एक के बाद एक खिलाड़ी चोटिल हो रहे हैं। पहले शिखर धवन और केएल राहुल न्यूजीलैंड दौरे पर चोटिल हुए जिसके बाद गौतम गंभीर को टीम में शामिल किया गया। वहीं न्यूजीलैंड सीरीज के पांचवे वनडे के दौरान सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा भी चोटिल हुए और उन्हें टीम से बाहर होना पड़ा। रोहित ने हाल ही में लंदन में अपनी जांघ की सर्जरी करवाई हऐ और इस समय वह आराम कर रहे हैं। मौजूदा स्थिति के साथ वह इंग्लैंड दौरे पर वनडे और टी20 सीरीज भी नहीं खेल पाएंगे। अब भारतीय टीम के लिए एक और बुरी खबर आई है कि तेज गेंदबाज हार्दिक पंड्या भी दाएं कंधे में फ्रैक्चर के चलते टेस्ट के बाद अब वनडे सीरीज से भी बाहर हो सकते हैं। ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड मोहाली टेस्ट का फुल स्कोर कार्ड

हार्दिक को अभ्यास सत्र के दौरान दाएं कंधे में तकलीफ हुई थी। जांच के बाद मेडिकल टीम ने यह बताया कि हार्दिक को कंधे मे हेयरलाइन फ्रैक्चर है जिसके चलते वह छह हफ्तों तक मैदान से दूर रहेंगे। हालांकि वह वनडे सीरीज से पहले ठीक हो जाएंगे लेकिन इस बात में कुछ पक्का भी नहीं है। हार्दिक को इस सीरीज पर अपना टेस्ट डेब्यू करना था लेकिन चोट के कारण वह उससे चूक गए। हार्दिक ने न्यूजीलैंड सीरीज पर शानदार वनडे डेब्यू किया था और अब वह इंग्लैंड दौरे पर अपने प्रदर्शन को जारी रखना चाहेंगे। हार्दिक के इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज खेलने के बीच एक परेशानी कोच अनिल कुंबले का वह बयान है जिसमें उन्होंने कहा था कि चोट के बाद वापसी करने के लिए खिलाड़ियों को घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन करके दिखाना हेगा। वनडे सीरीज 15 जनवरी से शुरू हो रही है, पंड्या के पास इतना वक्त भी नहीं है कि वह वनडे सीरीज से पहले घरेलू क्रिकेट खेल सकें। ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड मोहाली टेस्ट के चौथे दिन का लाइव ब्लॉग

गौर करने वाली बात यह भी है कि भारत के कई खिलाड़ी लगातार चोटिल हो रहे हैं जिससे बेंच स्ट्रेंथ कमजोर हो रही है। न्यूजीलैंड सीरीज से लेकर अब तक केएल राहुल, हार्दिर पंड्या, ईशांत शर्मा, रोहित शर्मा, रिद्धिमान साहा, भुवनेश्वर कुमार और शिखर धवन को मिलाकर कुल सात भारतीय खिलाड़ी चोटिल हो चुके हैं। भारतीय टीम के लिए यह अच्छे संकेत नहीं हैं। अभी भारत को इंग्लैंड के साथ दो टेस्ट के बाद वनडे और टी20 सीरीज भी खेलनी है। जिसके बाद ऑस्ट्रेलिया के साथ बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी भी खेली जानी है।