Harmanpreet Kaur: As a captain I had a clear view of about India’s XI for World T20 semi-final
Harmanpreet Kaur (IANS)

आईसीसी महिला टी20 विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में सीनियर बल्लेबाज मिताली राज को ना खिलाने का फैसला अब भी कप्तान हरमनप्रीत कौर का पीछा कर रहा है। एड़ी की चोट के चलते फिलहाल टीम से बाहर चल रही हरमनप्रीत कौर को हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान फिर से इसी सवाल का सामना करना पड़ा।

सीएनएन-न्यूज 18 को दिए इंटरव्यू में हरमनप्रीत ने कहा कि बतौर कप्तान वो सेमीफाइनल की प्लेइंग इलेवन को लेकर पूरी तरह आश्वस्त थी। उन्होंने ये भी कहा कि टीम से जुड़ा हर फैसला सभी सदस्यों के सामने लिया जाता है इसलिए पूरी टीम को प्लेइंग इलेवन के बारे में पता था, किसी से कुछ छुपा नहीं था।

ये भी पढ़ें: आखिरी वनडे में मिली जीत की लय टी20 सीरीज में जारी रखने की उम्मीद: हीथर नाइट

भारतीय कप्तान ने कहा, “मुझे नहीं पता कि क्यों हुआ और कैसे हुआ क्योंकि मैं उस मुद्दे पर जाना ही नहीं चाहती। ईमानदारी से कहूं तो, जब आप एक टीम का नेतृत्व करते हैं तो आपके दिमाग में एक साफ छवि होनी चाहिए। जो भी होता था, सभी को उसकी जानकारी जाती थी कि हमारी योजना क्या है। काफी चीजें हुई, मुझे उनके बारे में नहीं पता लेकिन बतौर कप्तान मेरे पास एक स्पष्ट दृष्टिकोण था और वो हमेशा रहेगा।।”

ये भी पढ़ें: निजी कीर्तिमान अच्छे हैं लेकिन विश्व कप जीतना बचपन का सपना: स्मृति मंधाना

हरमनप्रीत ने आगे कहा, “जब भी हम किसी चीज पर चर्चा करते थे, तो ये टीम के हर सदस्य की मौजूदगी में किया जाता था और मुझे लगता है कि हमारे पास जो योजना थी वो ये थी कि हम टीम की गति को आगे बढ़ाना चाहते थे। जब युवा लड़कियां आपको अपने खेल के साथ आत्मविश्वास दे रही हैं, वो योजना के अनुसार खेलने के लिए तैयार हैं तो आप और क्या चाहते हैं? यही हमारी योजना थी। मुझे लगता है कि उस योजना ने वास्तव में हमारे लिए काम किया, क्योंकि इससे पहले हमने विश्व कप में कभी भी ऑस्ट्रेलिया या न्यूजीलैंड को टी20 में हराया नहीं था। मुझे लगता है कि जब आप नतीजा हासिल करते हैं, तो आपको सकारात्मक रूप से सोचना जारी रखना चाहिए।”

ये भी पढ़ें: युवाओं को मौके देने से ज्‍यादा टी20 सीरीज जीतना लक्ष्‍य: स्‍मृति मंधाना

मिताली राज को सेमीफाइनल मैच में ना खिलाने का विवाद लंबा चला और सीओए-बीसीसीआई से होते हुए आखिरकार रमेश पोवार के कोच पद से हटने पर खत्म हुआ। हालांकि हरमनप्रीत कौर रमेश पोवार के कोच बने रहने के पक्ष में थी। कप्तान ने कहा, “कोच ज्यादातर एक जैसे ही होते हैं। पहले हमारे पास रमेश पोवार थे, वो कड़ी मेहनत करने वाले थे और उन्होंने हमें बहुत कुछ सिखाया। उनके आने के बाद हमें कई सारी चीजों के बारे में पता चला। उससे पहले हमारी योजना काफी सीमित थीं, हम एक ही तरह से खेला करते थे, इसलिए जब वो आए उन्होंने ये चीज बदली और तीन महीने के अंदर हमने सुधार देखा। उससे पहले हमारे अंदर ये आत्मविश्वास कभी नहीं था कि हम टी20 विश्व कप में अच्छा कर सकते हैं लेकिन उन तीन महीनों में, उनकी कड़ी मेहनत के दम पर हमने नतीजे देखे।”

भारतीय महिला टीम के नए कोच वी रमन के बारे में बात करते हुए हरमनप्रीत कौर ने कहा, “WV रमन भी बहुत अच्छे हैं, वो बहुत ही शांत दिमाग के हैं और बहुत अनुभवी हैं। मुझे लगता है कि अब तक उनके साथ काम करना वास्तव में अच्छा रहा है क्योंकि वो बहुत अनुभवी है। उनके बिंदु और सुझाव वास्तव में आपके लिए काम करते हैं और आपको खुद पर विश्वास दिलाते हैं। मुझे लगता है कि उनका अनुभव वास्तव में लंबे समय में हमारी मदद करेगा।”