hasan ali striking in all three formats of cricket he took most wicket in 2021 r ashwin at number 2
हसन अली @ICCTwitter

क्रिकेट के मैदान पर पाकिस्तान की टीम एक बार फिर अपना जलवा बिखरने में कामयाब हो रही है. बल्लेबाजी में अगर उसके कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) रनों का अंबार लगा रहे हैं तो बॉलिंग में अब उसे चिंता करने की जरूरत नहीं है. पाकिस्तान के दाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज यहां इस नए साल में सरपट दौड़ रहे हैं. 26 वर्षीय इस युवा तेज गेंदबाज ने महज 15 इंटरनेशनल पारियों में ही कुल 40 विकेट अपने नाम कर लिए हैं. इस साल विकेट झटकने के मामले में वह सबसे तेज हैं और विकेटों की इस झड़ी में उन्होंने दुनिया के दिग्गज गेंदबाजों में शुमार भारत के स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को भी पछाड़ दिया है.

हसन अली इन दिनों पाकिस्तान की टीम में लगातार विकेट चटका रहे हैं. उन्होंने इस साल अभी तक कुल 15 पारियों में बॉलिंग की है और अब तक व 40 विकेट अपने नाम कर चुके हैं. ईएसपीएन क्रिकइन्फो के एक आंकड़े के मुताबिक इस साल वह विकेट लेने में सबसे आगे हैं. उनके शानदार प्रदर्शन के दम पर जिम्बाब्वे दौरे पर गई पाकिस्तान ने मेजबान टीम को 2 टेस्ट की सीरीज में 2-0 से मात दी है. हालांकि अश्विन इन दिनों सिर्फ टेस्ट फॉर्मेट में ही खेल रहे हैं, जबकि हसन अली क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में खेलते हैं.

नाम

हसन अली (PAK) रविचंद्रन अश्विन (IND) शाहीन अफरीदी (PAK) जैक लीच (ENG) अक्षर पटेल (IND)

पारियां

15 10 19 11 7
विकेट 40 34 29 28

27

हसन अली के बाद भारत के रविचंद्रन अश्विन का नाम है, जिन्होंने 10 पारियों में कुल 34 विकेट अपने नाम किए हैं. नंबर 3 पर पाकिस्तान के ही शाहीन अफरीदी का नाम है. अफरीदी ने 19 पारियों में 29 विकेट अपने नाम किए हैं. नंबर 4 पर इंग्लैंड के स्पिनर जैक लीच का नाम है. लीच ने 11 पारियों में 28 विकेट लिए हैं, जबकि नंबर 5 पर भारत के अक्षर पटेल का नाम है. अक्षर ने सिर्फ 7 पारियों में 27 विकेट अपने नाम किए हैं.

हसन की बात करें तो यह युवा तेज गेंदबाज बीते 2 साल से पाकिस्तान की टीम में नहीं खेल पा रहा था. साल 2019 और 2020 में वह कई चोटों से जूझ रहे थे. वह कमर में खिंचाव से लेकर रिब्स फ्रैक्चर जैसी चोटों से जूझ रहे थे. लेकिन इसके बाद पाकिस्तानी टीम में अपनी वापसी का लक्ष्य लेकर वह पाकिस्तान की घरेलू ट्रॉफी कायदे आजम में खेले तो यहां अपने प्रदर्शन का जलवा मचा दिया.

सेंट्रल पंजाब के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी ने फाइनल मैच में शतक जमाकर 5 विकेट भी अपने नाम किए और पाकिस्तान की टीम में वापसी का अपना दावा ठोक दिया. उन्होंने इस घरेलू सीजन में कुल 43 विकेट निकाले और वह प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे.