पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हसन अली के दो कोविड-19 टेस्ट निगेटिव आने के बाद दक्षिण अफ्रीका और जिम्बाब्वे दौरे से पहले राष्ट्रीय टीम से जुड़ सकेंगे। पाकिस्तानी टीम दक्षिण अफ्रीका में तीन वनडे और चार टी20 अंतरराष्ट्रीय तथा जिम्बाब्वे में दो टेस्ट और तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने दक्षिण अफ्रीका और जिम्बाब्वे दौरे से पूर्व सभी खिलाड़ियों और टीम अधिकारियों का कोविड-19 परीक्षण करवाया था। जिनमें से केवल हसन का शुरुआती टेस्ट पॉजीटिव आया था।

बता दें कि बढ़ते कोरोना वायरस मामलों की वजह से पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) को स्थगित किए जाने से पहले भी अली का कोविड टेस्ट पॉजिटिव पाया गया था। पीएसएल को फ्रेंचाइजी टीमों में वायरस के बढ़ते मामलों के कारण स्थगित कर दिया गया था।

हसन ने कहा कि उन्होंने एक पार्टी में हिस्सा लिया था जिसमें ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर फवाद अहमद सहित इस्लामाबाद यूनाईटेड के अन्य खिलाड़ी भी मौजूद थे। लीग के दौरान फवाद का परीक्षण पॉजीटिव पाया गया था और होटल में आइसोलेशन पर रहने के बाद ही उन्हें स्वदेश लौटने की अनुमति दी गई थी।

बैन के बाद टीम में लौटे शार्जील खान को करने होगा इंतजार

पाकिस्तानी सलामी बल्लेबाज शार्जील खान को बताया गया है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू होने वाली टी20 सीरीज से एक दिन पहले नौ अप्रैल तक अपनी फिटनेस साबित करने पर ही उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल करने पर विचार किया जाएगा।

दक्षिण अफ्रीका और जिम्बाब्वे दौरे के लिए पाकिस्तानी टी20 टीम में चुने गए शार्जील को टीम के 28 मार्च को जोहान्सबर्ग रवाना होने से पहले लाहौर में टीम के बीच आपस में होने वाले मैचों में भाग नहीं लेने को भी कहा गया है।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सूत्रों ने कहा, ‘‘शार्जील को निजी ट्रेनर दिया गया है और बल्लेबाजी कोच यूनिस खान स्वयं उन पर निगरानी रखे हुए हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज से पहले इस सलामी बल्लेबाज की फिटनेस सुधारने के लिये सभी तरह के प्रयास किये जा रहे हैं।’’

शार्जील को पाकिस्तान सुपर लीग में अच्छे प्रदर्शन के दम पर पाकिस्तानी टीम में चुना गया लेकिन कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने यह कहकर इस पर सवाल उठाये कि उनकी फिटनेस अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के स्तर की नहीं है।