History is witness that Afghanistan can do anything: ACB Chief Executive Officer Asadullah Khan
अफगानिस्तान © Getty Images

अफगानिस्तान 30 मई से इंग्लैंड में विश्व कप में शिरकत करेगी और एक जून को उनका सामना ऑस्ट्रेलिया से होगा। अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी असदुल्लाह ने माना कि उनके सामने ये विश्व कप चुनौती है लेकिन सिर्फ उनकी टीम के लिए नहीं, सभी टीमों के लिए ये टूर्नामेंट चुनौती से भरा है।

उन्होंने कहा, “चुनौती तो हमेशा रहती है। विश्व कप में सभी पूर्ण सदस्य हैं। वहां खेलना चुनौती तो होगी, लेकिन वो सिर्फ हमारे लिए ही नहीं बल्कि सभी टीमों के लिए चुनौती है। वहां गलती करने के मौके कम होंगे। जितनी कम गलतियां करोगे उतने ही मैच जीतोगे।”

इंग्लैंड की परिस्थतियों में खेलने को लेकर असदुल्लाह ने कहा, “हम बीते चार महीनों से अलग-अलग परिस्थितियों में अभ्यास कर रहे हैं। हमने दक्षिण अफ्रीका में भी अभ्यास किया। हमारी टीम स्कॉटलैंड गई हुई है। इसके बाद हम आयरलैंड से खेलेंगे तो हम विश्व कप के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।”

ये भी पढ़ें: फैंस ने सुरेश रैना खेल भावना का ब्रांड एंबेसेडर बताया

अफगानिस्तान इस समय विश्व क्रिकेट में एक ऐसी टीम है जो सीमित ओवरों में किसी भी टीम को कभी भी हराने का माद्दा रखती है। सीईओ ने कहा कि सिर्फ क्रिकेट में ही नहीं अफगानिस्तान का इतिहास गवाह है कि अफगानी कुछ भी कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, “पहले हमारी सोच सिर्फ ये रहती थी कि हम खेलने जा रहे हैं लेकिन इस बार हम जीतने के लिए जा रहे हैं। अफगानिस्तान का इतिहास उठा के देख लें तो इस देश ने हमेशा ऐसा ही किया। आप किसी भी क्षेत्र में हमारा इतिहास उठा के देख लें। क्रिकेट में बीते 10 साल से हमने जो सुधार किया है, वो दुनिया के सामने है। हम किसी भी टीम को हरा सकते हैं और हराएंगे भी।”

ये भी पढ़ें: अफगानिस्तान का पूरा ध्यान तेज गेंदबाज तैयार करने पर है: असदुल्लाह खान

बीते महीने एसीबी ने कप्तानी में बदलाव करते हुए असगर स्टानिकजाई को हटा गुलबदीन नैब को टीम की कप्तान नियुक्त किया था। जिसके बाद टीम के दो अहम खिलाड़ियों राशिद और नबी ने सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर इसे लेकर अपना गुस्सा जाहिर किया था। इस विवाद पर असदुल्लाह ने कहा, “ये हर किसी की अपनी राय है कि वो किस तरीके से इसे देखते हैं। हमारी चयन समिति ने भी इसे देखा है तो जो कमी थी उसे पूरा करने की कोशिश की है। अब इस मसले को सुलझा लिया गया है।”