I am fine says Sourav Ganguly after being discharged from the hospital
सौरव गांगुली (IANS)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और बीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली गुरुवार को कोलकाता के वुडलैंड्स अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए हैं। 48 साल के गांगुली को सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी एंजियोप्लास्टी की गई थी।

अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद गांगुली ने कहा, “मैं अपने इलाज के लिए सभी डॉक्टरों का शुक्रिया करता हूं। मैं अब ठीक हूं, उम्मीद है कि मैं जल्द यात्रा कर सकूंगा।”

पूर्व दिग्गज ने कहा, “सबसे पहले मैं सभी को मुझे शुभकामनाएं देने के लिए शुक्रिया कहना चाहूंगा। खासकर वुडलैंड्स अस्पताल के डॉक्टरों को। मेरा ध्यान रखने के लिए मैं उन्हें धन्यवाद कहना चाहूंगा। लोग कहते हैं कि हम अस्पताल अपनी जिंदगी वापस पाने आते है और मेरे लिए ये ऐसा ही रहा है।”

शनिवार को गांगुली की तीन कोरोनरी धमनियों के अवरूद्ध होने का पता चलने के बाद इस रुकावट को दूर करने के लिए उनकी एक धमनी में स्टेंट डाला गया था। रविवार को गांगुली का कोरोना वायरस टेस्ट भी निगेटिव आया।

वेस्टइंडीज टीम की असली क्षमता को नहीं दर्शाती है मौजूदा टी20 रैंकिंग: निकोलस पूरन

सोमवार को एक 9-सदस्यीय मेडिकल टीम का गठन किया गया, जिन्होंने तय किया कि गांगुली को अपनी कोरोनरी धमनियों की बाकी रुकावटों के लिए दूसरी एंजियोप्लास्टी की आवश्यकता नहीं है।

डॉ रूपाली बसु एमडी और सीईओ वुडलैंड्स अस्पताल, ने पहले इंडिया टुडे को बताया था कि शेष दो अवरुद्ध धमनियों के पुनर्जीवित होने के बाद गांगुली एक और 3-4 सप्ताह में अपने सामान्य जीवन को फिर से शुरू कर पाएंगे।