भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की पत्नी और बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) पर किए कमेंट को लेकर आलोचना का शिकार हो रहे पूर्व दिग्गज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने आखिरकार मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान ने साफ कहा कि उन्होंने कभी भी कोहली के प्रदर्शन के लिए अनुष्का को दोषी नहीं ठहराया और उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है।

इंडिया टुडे से बातचीत में गावस्कर ने कहा, “पहली बात, मैं ये एक बार फिर से कहना चाहूंगा। मैंने उसे कब दोषी ठहराया? मैं उसे दोषी नहीं कहा रहा था। उस वीडियो में मैंने केवल इतना कहा कि वो विराट को गेंदबाजी करा रही थी। विराट ने लॉकडाउन के दौरान केवल उसकी बॉलिंग ही खेली।”

उन्होंने कहा, “वो टेनिस बॉल क्रिकेट थी, एक मजेदार खेल जो लोग लॉकडाउन के दौरान समय बिताने के लिए खेल रहे थे। इतना ही, मैंने विराट की असफलता के लिए उसे कब दोष दिया?”

पूर्व दिग्गज ने आगे कहा कि वो हमेशा से ही विदेशी दौरों पर खिलाड़ियों की पत्नियों के उनके साथ रहने का समर्थन किया है। उन्होंने कहा, “आप मुझे जानते हैं, मैं वो शख्स हूं जिसने हमेशआ दौरे पर पत्नियों के अपने पति के साथ जाने का समर्थन किया है। 9-5 की नौकरी करने वाला कोई साधारण आदमी जब काम से वापस आता है तो वो अपनी पत्नी के पास ही वापस आता है। उसी तरह से क्रिकेटर जब विदेशी दौरों पर जाते हैं या फिर वो घर पर खेल रहे होते हैं तो उनकी पत्नियां उनके साथ क्यों नहीं रह सकती?”

क्या है मामला

गावस्कर के जिस कमेंट की वजह से विवाद शुरू हुआ, वो उन्होंने 24 सितंबर को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच दुबई में खेले गए मैच के दौरान किया था। साथी कमेंटेटर आकाश चोपड़ा के साथ बातचीत के दौरान गावस्कर ने विराट के बारे में कहा था कि ‘उन्होंने लॉकडाउन में केवल अनुष्का की बॉलिंग की प्रैक्टिस की है’।