I am part of the team, will go with whatever the team decides: KL RAHUL
KL Rahul @IANS

इंडियन प्रीमियर लीग में शानदार बल्लेबाजी कर फॉर्म में लौटे केएल राहुल इन दिनों आत्मविश्वास से भरे हैं। रिजर्व ओपनर राहुल ने भले ही खुलकर नहीं कहा, लेकिन संकेत दिया है कि वह विश्व कप में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए तैयार हैं।

भारतीय टीम में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने को लेकर लंबे समय से बहस चल रही है। विश्व कप से पहले कई बल्लेबाजों को इस नंबर पर आजमाया गया लेकिन कोई भी जगह पक्की नहीं कर पाया। अब इस जगह को लेकर राहुल और विजय शंकर के नाम सामने हैं।

राहुल ने कहा ,‘‘चयनकर्ताओं ने साफ कर दिया है। मैं टीम का हिस्सा हूं और जहां टीम चाहेगी, बल्लेबाजी करूंगा।’’

पढ़ें:- वेंगसरकर ने बताया नंबर-4 के लिए अपने फेवरेट खिलाड़ी का नाम

मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि इंग्लैंड में हालात के अनुसार ही टीम संयोजन तय होगा। टीवी चैट शो पर विवादास्पद बयानबाजी के कारण निलंबन झेलने वाले राहुल ने इंग्लैंड लायंस के खिलाफ भारत ए के लिए घरेलू सीरीज खेली और रन बनाए।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज में उन्होंने 50 और 47 रन बनाए। आईपीएल में 53.90 की औसत से 593 रन बनाने वाले राहुल ने कहा, ‘‘फॉर्म को जरूरत से ज्यादा तूल दिया जाता है। पिछले दो महीने से मैं अच्छा खेल रहा हूं। इंग्लैंड लायंस के खिलाफ खेलकर मैंने अपनी तकनीक पर काम किया और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 में तथा आईपीएल में अच्छा खेल सका। अब मैं आत्मविश्वास से भरपूर हूं।’’

पढ़ें:- भारत को विश्व चैंपियन बना सकते हैं विराट और बुमराह – होल्डिंग

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खराब प्रदर्शन के कारण उसके आत्मविश्वास में कमी आई थी।

राहुल ने कहा ,‘‘मैंने महसूस किया कि मेरी तकनीक में कोई खराबी नहीं थी। फॉर्म को जरूरत से ज्यादा तूल दिया जाता है लेकिन ऑस्ट्रेलिया में अच्छा नहीं खेलने से किसी भी खिलाड़ी का मनोबल टूटेगा। हर कोई अच्छा खेलना चाहता है। मुझे खुशी है कि अब रन बना रहा हूं।’’

उन्होंने कहा ,‘‘मैंने बहुत बदलाव नहीं किया। हर खिलाड़ी के करियर में खराब दौर आता है। मैं अपनी बल्लेबाजी को सरल रखने की कोशिश करता हूं। जब फॉर्म अच्छा होता है तो सब सही लगता है और खराब होने पर सब गलत।’’

पिछले दो महीने से लगातार टी20 क्रिकेट खेलने के बाद वनडे क्रिकेट में खुद को ढालना कितना कठिन होगा, यह पूछने पर राहुल ने कहा ,‘‘कठिन तो होगा लेकिन बहुत बदलाव नहीं करने होते हैं। यह गेंद और बल्ले का ही खेल है और सभी को हालात के अनुरूप खेलना होता है।’’