i am trying to get rhythm of before 2018 says bajrang punia after winning gold medal in cwg 2022
bajrang punia medal

बर्मिंगम: राष्ट्रमंडल खेलों में कुश्ती के 65 किग्रा स्पर्धा में अपने खिताब का बचाव करने वाले भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने शुक्रवार को कहा कि वह आक्रमण करने की अपनी सर्वश्रेष्ठ स्थिति में आने के लिए मेहनत कर रहे है।

तोक्यो ओलिंपिक के कांस्य पदक विजेता बजरंग ने फाइनल में कनाडा के लाचलन मैकनील को 9-2 से हराया।

बजरंग ने इस मुकाबले के बाद कहा, ‘मुकाबला अच्छा था, प्रतिद्वंद्वी भी चुनौतीपूर्ण था। ओलंपिक के दौरान मुझे चोट (घुटने) लग गयी थी। मेरी योजना धीरे-धीरे पुरानी लय को हासिल करने की है। मैं सभी कोच के साथ बैठ कर कमजोरी को सुधारने पर काम करूंगा। मेरा अगला लक्ष्य विश्व चैंपियनशिप है।’

बजरंग से जब पूछा गया कि वह पिछले कुछ टूर्नामेंटों की तुलना में राष्ट्रमंडल खेलों में ज्यादा आक्रमण कर रहे थे तो इस 28 साल के पहलवान ने कहा, ‘चोटिल होने के बाद मैंने आपको कहा था कि जल्द ही 2018 वाला बजरंग देखने को मिलेगा और मैं उसी पर काम कर रहा हूं।’