I badly wanted to win today but unfortunately, I couldn’t, says Smriti Mandhana
Smriti Mandhana (File Photo) @ IANS

न्यूजीलैंड के खिलाफ (India women v New Zealand Women) तीन मैचों की टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज में सूपड़ा साफ होने के बाद भारतीय महिला टीम की सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) ने रविवार को कहा कि जीत की स्थिति में पहुंचने के बाद मैच गंवाने को देखते हुए टीम को बल्लेबाजी में हो रही समस्याओं से निपटना होगा।

भारतीय महिला टीम तीसरे टी20 में जीत के करीब पहुंच गयी थी जिसे अंतिम गेंद पर चार रन बनाने थे लेकिन टीम दो रन से हार गयी। जीत के लिए 162 रन के लक्ष्य का पीछा करते समय स्मृति के करियर की सर्वश्रेष्ठ 86 (52 गेंद में) रन की पारी के बावजूद भारतीय महिला टीम चार विकेट पर 159 रन ही बना सकी।

पढ़ें: तीसरे टी20 में 4 रनों से हारा भारत, न्यूजीलैंड ने 2-1 से सीरीज जीती

स्मृति ने कहा, ‘‘मुझे लगता है लड़कियों ने कड़ी टक्कर दी। अगर आप सीरीज को देखेंगे तो हम 70 से 80 प्रतिशत समय मैच जीतने की स्थिति में थे। सीरीज में यह हमारे लिए अच्छी बात रही लेकिन हमें काफी सुधार करना होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें बल्लेबाजी की खामियों को जल्द से जल्द ठीक करना होगा। हमें कोई ऐसा बल्लेबाज चाहिए जो 20 ओवर तक बल्लेबाजी कर सके और बीच के ओवरों और अंतिम ओवरों में रन निकाल सके।’’

पढ़ें: श्रीलंका के कोच चंदिका हथरुसिंगा की सलेक्शन पैनल से छुट्टी

स्मृति ने इस टी20 सीरीज में 60 की औसत से सबसे ज्यादा 180 रन बनाये जिसमें दो अर्धशतकीय पारी भी शामिल है। बांये हाथ की इस बल्लेबाज को हालांकि दूसरे छोर से किसी का दमदार साथ नहीं मिला। स्‍मृति मंधाना ने कहा, ‘‘ मैं भारत के लिए मैच समाप्त करना चाहती थी। मुझे इतनी निराशा कभी नहीं हुई। मैं किसी भी तरह से टीम को जीत दिलाना चाहती थी लेकिन दुर्भाग्य से मैं ऐसा नहीं कर सकी।’’

(एजेंसी)