I deserve C K Nayudu Lifetime achievement award- Farokh Engineer
Farokh Engineer

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज फारूख इंजीनियर ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की अनदेखी की तरफ इशारा किया है। उन्होंने प्रतिष्ठित सी के नायुडु अवार्ड ना मिल पाने की निराशा जाहिर की।

पूर्व भारतीय विकेटकीपर फारूख इंजीनियर ने सी के नायुडु जीवन पर्यन्त उपलब्धि पुरस्कार नहीं मिलने पर निराशा जताई। यह पुरस्कार बीसीसीआई की तरफ से दिया जाता है। इस 80 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर ने एक कार्यक्रम में सार्वजनिक तौर पर अपनी हताशा व्यक्त की।

इंजीनियर ने कहा, ‘‘सीओए या जो भी कहो, में से एक ने कहा कि फारूख को पहले ही सी के नायुडु (जीवनपर्यन्त उपलब्धि) पुरस्कार मिल चुका है। सच्चाई यह है कि मैंने दो साल पहले बेंगलुरू में एमएके पटौदी लेक्चर के दौरान यह पुरस्कार दिया था। पदमाकर शिवालकर और राजिंदर गोयल को पुरस्कार मिला था और मुझे उनके लिये खुशी है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘आज जीवन पर्यन्त उपलब्धि पुरस्कार दिया जाता है …. मैंने भी लगभग 50 टेस्ट मैच 50 रूपये प्रतिदिन की दर पर खेले हैं और मुझे इस पुरस्कार से वंचित रखा गया है जिससे दुख होता है।’’

इंजीनियर ने कहा, ‘‘लोग कहते हैं कि मुझे यह पुरस्कार मिल चुका है। सूची देख लो। उसमें मेरा नाम नहीं मिलेगा। ’’

फारूख इंजीनियर ने भारत की तरफ से 46 टेस्ट मैच खेला है। इसमें 31.08 की औसत से 2611 रन बनाए हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर 121 रन रहा था। वहीं 5 वनडे में उन्होंने 54 नाबाद रन की बेस्ट पारी की मदद से कुल 114 रन बनाए हैं। टेस्ट मैच में फारूख के नाम 66 कैच और 16 स्टंपिंग हैं जबकि वनडे में उन्होंने तीन कैच पकड़े हैं और एक स्टंपिंग किया है।