I hope Bangladeshi players will feel safe enough to return to New Zealand, says NZ sports minister Grant Robertson
क्राइस्टचर्च की अल नूर मस्जिद के बाहर फायरिंग हुई थी (AFP)

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में हुए आतंकी हमले के बाद बांग्लादेशी खिलाड़ी सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच खेले बिना स्वदेश लौट गए थे। मस्जिद के बाहर हुई फायरिंग में बाल बाल बचे बांग्लादेशी खिलाड़ी हादसे के बाद काफी सहमे हुए हैं। हालांकि न्यूजीलैंड के खेल मंत्री ग्रांट रॉबर्टसन को यकीन है कि खिलाड़ी यहां वापस आने में सुरक्षित महसूस करेंगे।

ये भी पढ़ें: इंडियन टी20 लीग में इन खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर रहेगी खास नजर

न्यूजीलैंड क्रिकेट अवार्ड समरोह के दौरान रॉबर्टसन ने कहा, “किसी एक व्यक्ति की दिखाई हिंसा और नफरत, लंबे समय से न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के बीच बनी दोस्ती और संबंधों को नहीं तोड़ सकती। मुझे उम्मीद है कि खिलाड़ी और फैंस न्यूजीलैंड लौटने में सुरक्षित महसूस करेंगे और मुझे पता है कि वो अच्छी तरह जानते हैं कि यहां उनका खुले दिल से स्वागत किया जाएगा।”

ये भी पढ़ें: कोहली और धोनी के धुरंधरों के मुकाबले से होगा इंडियन टी20 लीग का आगाज

बता दें कि क्राइस्टचर्च में हुए आतंकी हमले के बाद न्यूजीलैंड पुलिस को अल नूर मस्जिद (जहां पर हमला हुआ था) में ही इस्लाम के बारे में शिक्षा दी जा रही है। इस दुर्भाग्यपूर्ण हादसे के बाद इसे एक सकारात्मक कदम माना जा रहा है। खेल मंत्री ने आगे कहा, “अंधेरे समय में भी उम्मीद की किरण ढूंढी जा सकती है। एक बार फिर क्रिकेट और खेल हमारे देश को एक करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।”