इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) ने अपने दोस्त और साथी खिलाड़ी बेन स्टोक्स (Ben Stokes) के बारे में कहा कि उसने हमेशा टीम को सर्वोपरि रखा है और अब समय है कि वो खुद को तरजीह दे।

स्टार ऑलराउंडर स्टोक्स ने मानसिक स्वास्थ्य कारणों से खेल से ब्रेक लिया है, जिसके बाद वो भारत के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज का हिस्सा नहीं होंगे।

स्टोक्स को टीम की धड़कन बताते हुए रूट ने कहा कि भारत के खिलाफ बुधवार से शुरू हो रही सीरीज में उसकी कमी खलेगी लेकिन जिस दौर से वो गुजर रहा है, उसमें क्रिकेट बहुत छोटी चीज है।

उन्होंने कहा, “मैं चाहता हूं कि मेरा दोस्त अच्छा रहे। जो भी बेन को जानता है, उसे पता है कि वो दूसरों को अपने से ऊपर रखता है। अब उसे खुद पर ध्यान देने की जरूरत है। उसे जितना समय चाहिए, दिया जाना चाहिए। पूरी टीम उसके साथ है।”

उन्होंने कहा कि स्टोक्स जैसे खिलाड़ी की कोई जगह नहीं ले सकता लेकिन उन्हें यकीन है कि सैम कर्रन जैसे युवा अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

इस बीच रूट ने, कोरोनोवायरस प्रतिबंधों के कारण इंग्लैंड के खिलाड़ियों के परिवारों के ऑस्ट्रेलिया दौरे से बाहर होने की संभावना पर भी बात की।

उन्होंने कहा, “खिलाड़ियों के नजरिए से, और मेरे नजरिए से, जब तक हम ये नहीं जानते कि भूमि क्या है, जब तक हम स्थिति को नहीं जानते, तब तक किसी भी प्रकार का फैसला लेना बहुत कठिन है।”

कप्तान रूट ने कहा, “बेशक चुनौतियां हैं, लेकिन हर कोई ऑस्ट्रेलिया में एशेज सीरीज का हिस्सा बनने के लिए बेताब है। ये किस कीमत पर है। जब तक हम ये नहीं जानते कि हालात क्या है, तब तक कोई फैसला लेना बहुत मुश्किल है।”