पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व लेग स्पिन गेंदबाज दानिश कनेरिया ने प्रधानमंत्री इमरान खान और क्रिकेट प्रशासकों से यह कहते हुए मदद की गुहार लगाई है कि उनकी हालत ठीक नहीं है.

1st Youth ODI : भारत ने दक्षिण अफ्रीका दौरे की शुरुआत धमाकेदार अंदाज में की, पहले वनडे में मेजबान को 9 विकेट से रौंदा

इंग्लैंड में एसेक्स के लिए खेलते हुए कनेरिया को स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाया गया था. कनेरिया ने बयान में कहा है कि लंबे समय से वह पाकिस्तान और दुनिया भर में कई लोगों से संपर्क कर अपनी समस्याओं का समाधान करवाने की गुजारिश की लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की. इसके इतर ‘पाकिस्तान के कई अन्य क्रिकेटर्स के मामले सुलझाए गए.

बकौल कनेरिया, ‘ ‘मेरी हालत बहुत खराब है और मैंने पाकिस्तान और दुनियाभर में कई लोगों से मदद की गुहार लगाई है लेकिन अभी तक मुझे कोई मदद नहीं मिली है. हालांकि पाकिस्तान में कई क्रिकेटरों की समस्याओं को सुलझाया गया है. मैंने एक क्रिकेटर के नाते पाकिस्तान के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और मुझे इसका गर्व है. मुझे लगता है कि इस वक्त पाकिस्तान के लोग मेरी मदद करेंगे. मुझे कई महान पाकिस्तानी और दुनियाभर के क्रिकेटर्स जिनमें प्रधानमंत्री इमरान खान भी शामिल हैं, से मुझे इस मुश्किल से बाहर निकालने के लिए मदद मांगी है.’

गांगुली के ‘4 देशों की सुपर सीरीज’ वाले आइडिया को पाक ने बताया ‘बकवास’, ऑस्ट्रेलिया की ओर से आया ये जवाब

कनेरिया ने पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर की तारीफ भी की जिन्होंने कहा था कि कनेरिया से टीम में धार्मिक आधार पर भेदभाव होता था. कनेरिया ने कहा कि शोएब ने बहादुरी भरा काम किया है.

कनेरिया ने कहा, ‘आज मैंने दिग्गज तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का इंटरव्यू टीवी पर देखा. मैं व्यक्तिगत रूप से अख्तर को धन्यवाद अदा करना चाहता हूं कि उन्होंने दुनिया को सच बताया.’

39 वर्षीय कनेरिया ने पाकिस्तान के लिए 61 टेस्ट खेले जिसमें उन्होंने 261 विकेट अपने नाम किए. इसके अलावा कनेरिया के नाम 15 वनडे विकेट शामिल हैं. उधर, शोएब अख्तर ने पाकिस्तान के लिए 46 टेस्ट मैचों में 178 विकेट लिए हैं.

अख्तर ने दिया था ये बयान 

शोएब अख्‍तर ने एक टीवी इंटरव्‍यू के दौरान बताया कि उनके समय में कैसे दानिश कनेरिया के साथ टीम में सिर्फ इसलिए भेदभावपूर्ण रवैया अपनाया जाता था क्‍योंकि वो हिन्‍दू हैं.

शोएब अख्तर के साथ इस चैट शो में राशिद तलीफ और असीम कमाल थे. पहले राशिद लतीफ ने बताया कि युसूफ योहाना को हिन्‍दू होने की वजह से पाकिस्‍तान की टीम में काफी तंग किया गया, लेकिन वो कमाल का खिलाड़ी था. बाद में वो धर्म परिवर्तन कर मोहम्‍मद यूसुफ बन गए.