पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ मोहाली में अपने वनडे डेब्यू को याद करते हुआ बताया कि किसी तरह विपक्षी टीम के खिलाड़ियों ने उन्हें अपशब्द कहे थे।

एक यू-ट्यूब चैनल पर पोस्ट हुए वीडियो में सहवाग ने कहा, “मैं 20 या 21 साल का था। जब मैं बल्लेबाजी करने गया तो शाहिद आफरीदी, शोएब अख्तर, यूसुफ और बाकी पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने गालियों से मेरा स्वागत किया। मुझे तब गालियां भी नहीं आती है।”

उन्होंने कहा, “मैं उन्हें ज्यादा जवाब नहीं दे पाया क्योंकि ये मेरा पहला मैच था और मैं बेहद नर्वस था। 20-25 हजार लोग उस मैच को देखने आए थे।”

42 साल के पूर्व क्रिकेटर ने कहा, “लेकिन बाद में जब मैं टीम में सेट हो गया तो 2003-04 के पाकिस्तान दौरे पर तिहरा शतक जड़ मैंने उन गालियों का जवाब देकर अपना बदल लिया था। किसी वजह से, जब भी भारत पाकिस्तान के खिलाफ खेलता है मैं बेहद रोमांचित महसूस करता हूं।”