विकेटकीपर बल्लेबाज टिम पेन (Tim Paine) के इस्ताफी देने के बाद ऑस्ट्रेलिया के 47वें टेस्ट कप्तान बने पैट कमिंस (Pat Cummins) ने पहली बार मीडिया के सामने आते ही अपनी कप्तानी शैली की एक खुली और आकर्षक तस्वीर प्रस्तुत की, जिसमें स्टीव स्मिथ (Steve Smith) एक बड़ा योगदान देंगे।

हालांकि कमिंस ने स्वीकार किया कि वो “हमेशा चीजें सही नहीं करेंगे” और वो कप्तानी के लिए एक सहयोगी दृष्टिकोण अपनाएंगे। कमिंस ने कहा कि डिप्टी स्टीव स्मिथ की मौजूदगी उनके इस दृष्टिकोण की सबसे बड़ी पहचान होगी।

कमिंस ने खुलासा किया कि वो पेन और स्मिथ के अनुभव की अहमियत समझते हैं। साथ ही वो ये भी जानते हैं कि कप्तान की जिम्मेदारी संभालने के बाद उनका वर्कलोड बढ़ने वाला है।

कमिंस ने अपनी कप्तानी के बारे में कहा, “ये अतीत में बाकी कप्तानों से थोड़ा अलग दिख सकता है। ऐसे समय होंगे जहां मैं मैदान पर रहूंगा, ये एक गर्म दिन होगा, मैं ओवर के बीच में हूं और मुझे रणनीति के लिए, अनुभव के लिए लोगों से सलाह लेने की जरूरत पड़ेगी, और ये एक बड़ा कारण है कि मैं स्टीव को उप-कप्तान बनाने के पक्ष में था।”

उन्होंने कहा, “मैदान पर कई बार ऐसा होगा जब मैं स्टीव को इशारा दूंगा, और आप देखेंगे कि स्टीव फील्डर्स को इधर-उधर लगा रहे हैं, शायद गेंदबाजी में बदलाव कर रहे हैं और एक सक्रिय उप-कप्तानी लग रहे हैं और यही मैं वास्तव में चाहता हूं। मैंने यही मांगा है, और मुझे वास्तव में खुशी है कि स्टीव भी इससे खुश हैं।”

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ने कहा, “स्टीव के पास इतनी ज्यादा ताकत है, खास तौर पर मैदान पर चतुराई और पहली स्लिप से वो पूरे मैदान को अलग तरह से देखता है, स्पिनरों के साथ उसका अनुभव विशाल है, गेंदबाजी में बदलाव और एक खेल की मैपिंग करता है, इसलिए मैं उससे काफी मदद लूंगा। हम मिलकर जानेंगे कि ये वास्तव में कैसे काम करता है, लेकिन ये एक वास्तविक सहयोगी दृष्टिकोण होगा।”