I was waiting for this opportunity says Vijay Shankar on defending 11 runs in last over

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मंगलवार को खेले गए दूसरे वनडे मैच में भारत को आठ रनों से रोमांचक जीत दिलाने वाले ऑलराउंडर विजय शंकर ने कहा है कि वह इसी मौके की तलाश में थे और दबाव में अच्छा करना चाहते थे।

भारत ने नागपुर वनडे में पहले बल्लेबाजी करते हुए 48.2 ओवर में 250 रन का स्कोर बनाया फिर ऑस्ट्रेलिया को 49.3 ओवर में 242 रनों पर रोक दिया।

ऑस्ट्रेलिया को आखिरी छह गेंदों पर जीत के लिए 11 रन बनाने थे और गेंद शंकर के हाथों में थी। शंकर ने 50वें ओवर की पहली गेंद पर मार्कस स्टोइनिस (52) को एलबीडब्‍ल्‍यू आउट कर भारत की जीत लगभग पक्की कर दी। इसके बाद उन्होंने तीसरी गेंद पर एडम जाम्पा (2) को बोल्ड कर भारत को रोमांचक जीत दिला दी।

पढ़ें: कपिल देव, सचिन तेंदुलकर के क्लब में शामिल हुए रविंद्र जडेजा

शंकर ने मैच के बाद कहा, ‘मेरे लिए यह एक अवसर था। ईमानदारी से कहूं तो मैं इसी मौके की तलाश में था। मैं दबाव में अच्छा करना चाहता था। डेथ ओवर में गेंदबाजी करने में आनंद आया। मैं खुद से यही कह रहा था कि आखिरी ओवर मुझे डालना है। मैं चुनौती लेने के लिए तैयार था।’

शंकर ने 15 रन देकर दो विकेट लिए। उन्होंने 46 रन भी बनाए।

पढ़ें: ‘सीओए ने अब तक राहुल और हार्दिक पांड्या का मामला नहीं भेजा’

उन्होंने कहा, ‘जब आप देश के लिए खेल रहे होते हैं तो ऐसी चुनौतियों के लिए तैयार होने की जरूरत होती है। आखिरी ओवर में केवल मानसिक तौर पर स्पष्ट रहने की जरूरत थी। मुझे केवल सही जगह सही गेंद डालनी थी और मैंने ऐसा ही किया। मुझे खुद पर भरोसा था कि यह मैं ऐसा कर सकता हूं।’