i will be very surprised if dinesh karthik will not go to t20 world cup in australia says sunil gavaskar

राजकोट: भारत ने जब साल 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपना पहला टी20 इंटरनैशनल मैच खेला था जो दिनेश कार्तिक उस टीम का हिस्सा थे। आज 16 साल बाद भी वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के आधुनिकतम फॉर्मेट में अपना दम दिखा रहे हैं। शुक्रवार को कार्तिक ने राजकोट में साउथ अफ्रीका के ही खिलाफ सिर्फ 27 गेंद पर 55 रन बनाए। वह ऐसे समय बल्लेबाजी करने आए जब भारत का स्कोर 12.5 ओवर में 81 रन था। क्रीज पर हार्दिक पंड्या मौजूद थे और कप्तान ऋषभ पंत एक बार फिर नाकाम पारी खेलकर लौट रहे थे।

कार्तिक और हार्दिक ने यहां से मोर्चा संभाला। दोनों ने सिर्फ 33 गेंद पर 65 रन की भागीदारी की। यानी प्रति ओवर 12 रन के करीब।

कार्तिक को गेंदबाजी करना काफी मुश्किल था। वह गेंदबाजों के दिमाग को पढ़ रहे थे। ऐसा लगता था कि जानते हैं कि अगली गेंद कहां होगी। उसी हिसाब से वह पहले से तैयार नजर आए। कॉमेंट्री कर रहे मुरली कार्तिक और अजीत आगरकर भी कार्तिक की इस पारी से बहुत प्रभावित नजर आए।

आईपीएल में मिस्टर फिनिशर का टाइटल हासिल करने वाले कार्तिक यहां भी उसी अंदाज में दिखे। हालांकि यहां चुनौती थोड़ी ज्यादा थी। सीरीज दांव पर होने का प्रेशर था और साथ ही भारत को न सिर्फ तेजी से रन बनाने थे बल्कि इस बात का भी ख्याल रखना था कि विकेट न गिरे। क्योंकि इस जोड़ी के बाद कोई विशेषज्ञ बल्लेबाज नहीं था।

दूसरे टी20 इंटरनैशनल में भारतीय टीम प्रबंधन ने कार्तिक से पहले अक्षर पटेल को भेजा था। इस फैसले की बहुत आलोचना हुई थी। लेकिन राजकोट में उन्होंने ऐसा नहीं किया। इस बार विशेषज्ञ बल्लेबाज के तौर पर खेल रहे कार्तिक ऊपर आए। आए क्या कमाल आए।

भारतीय पारी के बाद सुनील गावस्कर भी कार्तिक की पारी से बहुत प्रभावित नजर आए। गावस्कर ने कहा, ‘कार्तिक ने कमाल की बल्लेबाजी की। मुझे बहुत हैरानी होगी अगर कार्तिक वर्ल्ड कप के लिए मेलबर्न जाने वाली फ्लाइट का हिस्सा नहीं होंगे।’

भारतीय टीम वास्तव में ऐसे बल्लेबाज की तलाश में है जो मजबूत टॉप ऑर्डर के बाद पारी के अंत में रनों की रफ्तार बढ़ा सके। और न सिर्फ रफ्तार बढ़ाए बल्कि अगर शुरुआत में जल्दी विकेट गिर जाएं तो पारी को संभाल सके। कार्तिक इन दोनों भूमिकाओं को निभाने की काबिलियत रखते हैं।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए बने फिनिशर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम ने आईपीएल 2022 के प्लेऑफ में जगह बनाई। इसमें दिनेश कार्तिक की अहम भूमिका रही। कार्तिक ने 16 मैचों में 55 के औसत से 330 रन बनाए। लेकिन सबसे खास बात रही रन बनाने की उनकी रफ्तार। कार्तिक ने 183.33 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए।

तो क्या कार्तिक जाएंगे वर्ल्ड कप

सुनील गावस्कर तो इस बात की वकालत कर चुके हैं कि गावस्कर को अक्टूबर-नवंबर को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में होना चाहिए। और जिस फॉर्म में कार्तिक नजर आ रहे हैं सिलेक्टर जरूर उनके नाम पर विचार करेंगे। कार्तिक 37 साल के हैं लेकिन अगर वह फॉर्म में हैं और टीम की रणनीति में फिट होते हैं तो उम्र ज्यादा मायने नहीं रखती। आखिर 2019 के बाद उन्होंने अपने खेल के दम पर ही तो भारतीय टीम में वापसी की है।