Ian Chappell explains The ideal way to unravel a tied final
इयान चैपल © AFP

आईसीसी विश्व फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ इंग्लैंड की जीत ने काफी विवाद खड़े किए। लॉर्ड्स के मैदान पर खेले गए फाइनल मैच में दोनों टीमों का स्कोर बराबर होने के बाद कराए गए सुपर ओवर में भी जब कोई नतीजा नहीं निकल सका तो बाउंड्री की संख्या गिनकर इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया गया।

क्रिकेट फैंस और समीक्षकों के साथ कई दिग्गज खिलाड़ियों ने इस नियम की आलोचना की। इंग्लैंड को पहला विश्व कप जिताने वाले कप्तान इयोन मोर्गन ने खुद माना कि जिस तरह से मैच का नतीजा निकाला गया वो सही नहीं था। अब ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज पूर्व कप्तान इयान चैपल ने फाइनल मैच का नतीजा निकालने का सही तरीका बताया है।

पूर्व क्रिकेटर ने कहा, “विश्व कप फाइनल ने काफी रोमांचक के साथ विवाद भी प्रदान किया, जैसे कि फाइनल मैच का परिणाम जिस तरह से तय किया गया था, उस पर विवाद हुआ। एक टाय हुए फाइनल का नतीजा ढूंढने का आदर्श तरीका है प्रारंभिक दौर (राउंड रॉबिन) के आखिर में अंकतालिका में दोनों टीमों की स्थिति की तुलना की जाय। इससे एक निश्चित नतीजा मिलेगा क्योंकि इससे जीत या तो अंक या नेट रन-रेट पर आधारित होगी।”

बांग्लादेश प्रीमियर लीग में राजशाही किंग्स के लिए खेलेंगे जेपी डुमिनी

हालांकि चैपल ने इस विश्व कप में बल्ले और गेंद के बीच हुए बराबरी के मुकाबले की सराहना की। टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ऐसा माना जा रहा था कि इंग्लैंड की सपाट पिचों पर रनों का अंबार लगेगा लेकिन पूरे टूर्नामेंट में बल्लेबाज और गेंदबाज एक दूसरे को बराबरी की टक्कर देते रहे।

इस पर चैपल ने कहा, “इस विश्व कप से मिलने वाले सबसे सकारात्म परिणाम ये है कि टी20 क्रिकेट की सफलता के आकर्षित हुए प्रशासकों को ये समझ आ गया कि 50 ओवर का क्रिकेट कितना बेहतरीन हो सकता है।”

मुरली विजय का अर्धशतक बेकार, कराइकुडी कलई ने रूबी त्रिची वारियर्स को हराया

चैपल ने आगे कहा, “वनडे में एक निश्चित समय में खराब प्रदर्शन करने के बावजूद वापसी का मौका मिलता है, रणनीतियां इस्तेमाल करने की जगह होती है और गेंदबाजों और फील्डर्स पर लगी पाबंदियों के बावजूद एक लंबा अच्छा स्पेल संभव है। अगर अच्छे तरीके से खेला जाय तो ये (वनडे) लंबे फॉर्मेट का एक रोमांचक और नाटकीय छोटा वर्जन होगा।”