ICC approves a Nine-team Test league and 13-team ODI league
भारतीय टेस्ट टीम © AFP

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल ने आज ऐतिहासिक फैसला लेते हुए टेस्ट चैंपियनशिप को मंजूरी दे दी है। आईसीसी के मुताबिक ये टेस्ट लीग 9 देशों के बीच खेली जाएगी, बता दें कि फिलहाल विश्व क्रिकेट में कुल 12 टेस्ट टीमें हैं। इस लीग में दो साल के अंदर कुल 6 टेस्ट सीरीज खेली जाएंगी। इनमें से तीन घरेलू सीरीज होंगी और बाकी तीन विदेशी मैदानों पर खेली जाएंगी। लीग का आयोजिन 2019-20 तक होगा, हालांकि अभी तक पूरा शेड्यूल तैयार नहीं हो पाया है। टेस्ट लीग के साथ आईसीसी ने 13 टीमों की वनडे लीग का भी ऐलान किया है। इस लीग में 12 टेस्ट टीमों के साथ आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग की विजेता टीम भी शामिल होगी।

आईसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर ने इस बारे में कहा, “बाईलैटरल क्रिकेट के लिए जमीन तैयार करना नई चुनौती नहीं है लेकिन पहली बार इसके लिए एक सही उपाय पर सबकी सहमति बन पाई है। दुनिया भर के क्रिकेट फैंस अब अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के हर मैच का आनंद ले सकेंगे, ये जानते हुए कि वनडे लीग का हर मैच आईसीसी विश्व कप में जगह पाने का मौका है।” आईसीसी प्रमुख डेविड रिचर्डसन ने कहा, “आईसीसी सदस्यों के लिए यह एक अहम कदम है और हम सब अंतर्राष्ट्रीय द्विपक्षीय क्रिकेट के भविष्य को सुरक्षित रखना चाहते हैं।” 13 टीमों के बीच होने वाली वनडे लीग के पहले सीजन में कुल 8 सीरीज खेली जाएंगी। जिसमें से चार सीरीज घरेलू मैदान और चार सीरीज विदेशी मैदानों पर आयोजित होंगी। [ये भी पढ़े: भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, तीसरा टी20 (प्रिव्यू): हैदराबाद में दोनों टीमों के बीच होगी करो या मरो की जंग]

इस बैठक के दौरान चार दिवसीय टेस्ट क्रिकेट के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। इस बारे में रिचर्डसन ने कहा, “टेस्ट क्रिकेट के भविष्य पर चर्चा करते हुए यह साफ हो गया है कि दूसरे सुझावों और नए तरीकों को बढ़ावा देने से टेस्ट क्रिकेट का भविष्य सुरक्षित रहेगा। जिस तरह डे-नाइट टेस्ट का ट्रायल किया गया है। चार दिवसीय टेस्ट मैचों से टेस्ट टीमों को ज्यादा से ज्यादा मैच खेलने का मौका मिलेगा। जिससे खिलाड़ियों को और बेहतर बनने में मदद मिलेगी और टॉप 9 टेस्ट टीमों के बीच का अंतर कम होगा।”