ICC Chairman Shashank Manohar fears, Test Cricket is ‘dying’
ICC Chairman Shashank Manohar

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने टेस्ट क्रिकेट के भविष्य पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट मर रहा है और इसे बचाने के लिए ही टेस्ट चैम्पियनशिप को लाया गया है।

शशांक इस समय बांग्लादेश के दौरे पर हैं। उन्होंने इस दौरान बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना से मुलाकात की। देश में क्रिकेट के स्तर की चर्चा करने के साथ ही उसको और ज्यादा लोकप्रिय बनाने और उसको बेहतर करने पर भी बातें हुई।

पढ़ें:- 2019 वर्ल्ड कप के बाद पूरी तरह बदल जाएगा क्रिकेट, जानें क्यों?

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने शशांक के हवाले से लिखा है, “हम देखने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या टेस्ट चैम्पियनशिप लोगों में दिलचस्पी पैदा कर सकती है या नहीं, क्योंकि हकीकत में टेस्ट क्रिकेट मर रहा है। इसलिए स्थिति को बेहतर करने के लिए हम कई तरीके अपना रहे हैं। आईसीसी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स इस नतीजे पर पहुंचे थे कि अगर हम टेस्ट चैम्पियनशिप की शुरुआत करेंगे तो टेस्ट क्रिकेट जिंदा रहेगा और इससे लोगों का रुझान भी खेल में बढ़ेगा।”

पढ़ें:- ICC ने किया सावधान, धोनी विकेट के पीछे हों तो क्रीज ना छोड़ें

शशांक ने माना कि टी-20 की लोकप्रियता बढ़ रही है और इस बात का अंदाजा टीआरपी से लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा, “अगर आप प्रसारणकर्ताओं की टीआरपी देखें तो टी-20 की टीआरपी ज्यादा है यह इसलिए है क्योंकि यह खेल का सबसे छोटा प्रारूप है। आज के समय में लोगों के पास पांच दिन मैच देखने का समय नहीं है।”

आईसीसी ने अक्टूबर-2017 में टेस्ट चैम्पियनशिप को मंजूरी दे दी थी। इसमें नौ टीमें हिस्सा लेंगी। इसका पहला संस्करण 2019 विश्व कप के बाद से शुरू होगा।