एंजेलो मैथ्यूज © Getty Images
एंजेलो मैथ्यूज © Getty Images

टीम इंडिया के खिलाफ 8 जून को होने वाले मुकाबले के लिए श्रीलंका के कप्तान एंजेलो मैथ्यूज फिट तो हो गए हैं लेकिन वो इस मैच में आधी ताकत के साथ उतरने वाले हैं। जी हां आपने बिलकुल सही पढ़ा, दरअसल मैथ्यूज ओवल में होने वाले इस मैच में गेंदबाजी नहीं करेंगे। मैथ्यूज सिर्फ बल्लेबाजी के लिए ही फिट हैं। मैथ्यूज ने टीम इंडिया के मुकाबले से पहले कहा, ‘मैं पिछले मैच में भी खेल सकता था लेकिन मैं ऐसा करके किसी तरह का जोखिम मोल नहीं लेना चाहता था। इसलिए टीम मैनेजमेंट ने निर्णय लिया की मुझे पहले मैच में नहीं खेलना चाहिए। लेकिन मैं पूरी तरह फिट हूं हालांकि मैं गेंदबाजी नहीं कर पाउंगा। एक बल्लेबाज के रूप में टीम को अपनी सेवाएं देने के लिए मैं पूरी तरह फिट हूं।’

मैथ्यूज की वापसी से श्रीलंकाई टीम को फायदा जरूर होगा। इसकी वजह उनका अनुभव और आखिरी लम्हों में बड़े शॉट खेलने की काबिलियत है। वैसे ये भी सच है कि मैथ्यूज का गेंदबाजी ना करना श्रीलंका के लिए किसी झटके से कम नहीं। श्रीलंका की टीम में अनुभवी गेंदबाजों की कमी है साथ ही लसिथ मलिंगा की रफ्तार में भी अब वो धार नहीं रह गई है ऐसे में अगर मैथ्यूज गेंदबाजी करते तो बड़ा रोल अदा कर सकते थे। ये भी पढ़ें-सुनील गावस्कर की ‘सुपरफ्लॉप’ पारी के 42 साल पूरे!

श्रीलंकाई टीम अपना पहला मैच द.अफ्रीका से हार गई थी। अब श्रीलंका के सामने मजबूत भारतीय टीम है जिसने अपने पहले मुकाबले में शानदार जीत हासिल की है। श्रीलंका की टीम को टूर्नामेंट में बने रहने के लिए हर हाल में टीम इंडिया से मैच जीतना ही होगा। श्रीलंका को हार मिली तो उसका चैंपियंस ट्रॉफी से बाहर होना तय हो जाएगा। अब देखना ये है कि मैथ्यूज की वापसी श्रीलंकाई टीम में जीत के लिए कितना जोश भरती है?