बांग्लादेश © AFP
बांग्लादेश © AFP

भारत और बांग्लादेश के बीच हमेशा की एक कड़ा मुकाबला देखने को मिलता है। खासकार जब ये दोनों टीमें आईसीसी के किसी बड़े टूर्नामेंट में भिड़ती हैं तो रोमांच और भी ज्यादा बढ़ जाता है। 15 जून को टीम इंडिया के खिलाफ बर्मिंघम में सेमीफाइनल मैच से पहले बांग्लादेश के कोच चंडिका हथुरासिंघा मीडिया से रूबरू हुए। इस दौरान किसी पत्रकार ने उनसे पूछा कि क्या बांग्लादेश भारत के खिलाफ बदले की भावना से खेलेगा? इस पर हथुरासिंघा ने जवाब दिया कि, “हमारे मन में बदले जैसी कोई भावना नहीं है। यह मैच एक बहुत अच्छी भारतीय टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने को लेकर है। एक जीत से हमारा काफी मनोबल बढ़ेगा। हम केवल मैच जीतने और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के बारे में सोच रहे हैं।” [ये भी पढ़ें: पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड सेमीफाइनल मैच में नहीं आएंगे भारतीय दर्शक!]

हथुरासिंघा का मानना है कि इस मैच में बांग्लादेश टीम के खिलाड़ी अपनी क्षमता का आंकलन कर सकते हैं। उन्होंने कहा, “यह हमारे लिए बहुत बड़ा मैच नहीं बल्कि बहुत बड़ा मौका है। अगर हम इसको इस तरह से देखेंगे तो यह हमारे लिये अच्छा रहेगा। हर क्रिकेटर इस तरह का मौका चाहता है। मेरा सभी क्रिकेटरों के लिये यही संदेश है कि इस मौके का भरपूर फायदा उठाएं।” बांग्लादेश की टीम ने कई वनडे मैचों में टीम इंडिया को हराया है लेकिन बड़े टूर्नामेंट में आते ही बांग्लादेश की टीम अक्सर भारत के सामने कमजोर पड़ जाती है। बर्मिंघम में होने वाले इस मुकाबले से पहले दोनों ही टीमों के प्रशंसकों में खासा उत्साह है।