धारावी के बच्चों ने क्रिकेट और महेंद्र सिंह धोनी के लिए गाना बनाया

ये भारत के लिए है, ये धोनी के लिए हैं, ये स्लम के हर उस बच्चे के लिए है जो क्रिकेट खेलना का सपना देखता है।

ये धारावी के 7 बन्टेज और एनिमीज़ द्वारा बनाया गया गाना है, इसका नाम है ‘क्रिकेट’ है।

भारत और पाकिस्तान के बीच लंदन के ओवल में होने वाले फाइनल मैच से पहले मुंबई के धारावी के बच्चों ने क्रिकेट के खेल और इस खेल के आदर्श महेंद्र सिंह धोनी के लिए एक वीडियो संदेश बनाया है।

भारत पाकिस्तान के खिलाफ चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का फाइनल मैच खेलने के लिए तैयार है। अगर टीम इंडिया मैच जीत जाती है तो ये तीसरा मौका होगा जब भारत चैंपियंस ट्रॉफी जीतेगा और अगर पाकिस्तान जीतता है तो ये उनका पहला मौका होगा।

धारावी को एशिया का दूसरा और दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्लम कहा जाता है। धारावी अलग अलग धर्मों और जातियों को समेटे हुए है। पृथ्वी पर सबसे घनी आबादी वाले क्षेत्रों में से एक यह जगह संगीत प्रतिभा का सबसे बड़ा केंद्र है, चाहे वह रैप, हिप हॉप, बीट बॉक्सिंग या भारत की पसंदीदा खेल – क्रिकेट ही क्यों ना हो। [ये भी पढ़ें: भारत बनाम पाकिस्तान, चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल (लाइव ब्लॉग): दोनों टीमों की निगाहें खिताब पर]

हर घर में चाहे रोजमर्रा के काम का सामान हो ना हो लेकिन क्रिकेट का हर सामान है और ये खेल और संगीत की शुद्धा भावना है जो एक साथ ‘क्रिकेट’ में आती है।

क्रिकेट वह सपना है जो धारावी में रहने वाले हर माता-पिता अपने बच्चे के लिए देखते हैं। धारावी के हर युवा बच्चे के शुरुआती जीवन में उसके माता-पिता की केवल यही आशा होती है। वह धारावी की हर गली में अभ्यास करते हैं, वहीं पर वह गाने का अभ्यास भी करते हैं और बड़े होकर वह माटुंगा जिमखाना के मैदान पर खेलने लगते हैं।

यह गाना भारतीय क्रिकेट के दिग्गज और कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी के लिए भी है। यह उस क्रिकेट की भावना के लिए भी है जो हर दिन लाखों भारतीयों के दिलों को धड़कती है जो भारत-पाकिस्तान मैच के दिन दोगुनी हो जाती है। हम उम्मीद करते हैं कि बेहतर टीम जीते। धारावी विराट और उनके साथियों का समर्थन करती है। लेकिन संगीत की कोई सरहद नहीं होती ना ही इस गाने के नायक “क्रिकेट” की कोई सीमा है।