सरफराज अहमद © AFP
सरफराज अहमद © AFP

चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पहली बार कदम रखने वाली पाकिस्तानी टीम के फैंस उसकी जीत के लिए दिल से दुआएं कर रहे हैं। इसकी वजह ये भी है कि फाइनल में उसकी टक्कर टीम इंडिया से है जिसके सामने अकसर बड़े टूर्नामेंट में उसकी हालत पतली दिखाई देती है। ऐसे में पूर्व क्रिकेटर हों या फिर पाकिस्तानी क्रिकेट फैंस सभी अपनी टीम की जीत की दुआएं मांग रहे हैं लेकिन पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद के मामा पाकिस्तान नहीं हिंदुस्तान की जीत की दुआएं मांग रहे हैं।

सरफराज अहमद के मामा महबूब हसन उत्तर प्रदेश के इटावा में रहते हैं और उनका मानना है कि विराट कोहली की टीम ही जीत की दावेदार है। महबूब हसन को लगता है कि पाकिस्तान की टीम के मुकाबले भारतीय टीम ज्यादा मजबूत है और उन्होंने टीम इंडिया की जीत की शर्त भी लगाई है। पाकिस्तान के कप्तान पर मैच के दबाव के बारे में पूछे जाने पर महबूब ने कहा, ‘इसमें दबाव की क्या बात है। सरफराज अपनी टीम के लिए खेल रहा है, मुझे खुशी है कि वो क्रिकेट में अच्छा कर रहा है।’ ये भी पढ़ें-पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद के समर्थन में उतरे वीरेंद्र सहवाग

सरफराज की मां अपनी शादी के बाद कराची चली गई थीं, लेकिन वो अब भी भारत में रह रहे अपने भाई महबूब से स्काइप के सहारे जुड़ी हुई हैं। सरफराज भी अबतक अपने मामा से तीन बार मिल चुके हैं। महबूब आखिरी बार अपने भांजे से चंडीगढ़ में मिले थे, जब 2016 टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान पाकिस्तान का मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से हुआ था। बहरहाल अभी सरफराज के मामा का ध्यान भारत और पाकिस्तान के मुकाबले पर है और उन्हें पूरा भरोसा है कि हमेशा कि तरह इस बार भी हिंदुस्तानी टीम पाकिस्तान पर भारी पड़ेगी।