चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत और पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने हैं © Getty Images
चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत और पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने हैं © Getty Images

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में कुछ ऐसा हुआ जो इस टूर्नामेंट के इतिहास में आज तक नहीं हो सका था। जी हां, दरअसल इस टूर्नामेंट में अब तक 100 से ज्यादा छक्के लग चुके हैं और ये पहला मौका है जब चैंपियंस ट्रॉफी के इतिहास में 100 या इससे ज्यादा छक्के लगे हैं। इससे पहले कभी भी इस टूर्नामेंट में 100 छक्के नहीं लगे थे। इस टूर्नामेंट में अब तक कुल (107) छक्के लग चुके हैं। अब तक कुल 8 बार खेले जा चुके इस टूर्नामेंट में 5 बार 50 या इससे ज्यादा छक्के लगे थे, तो वहीं 2 बार ये आंकड़ा 50 भी नहीं छू पाया था। ये भी पढ़ें: फखर जमान की विस्फोटक बल्लेबाजी के पीछे है इस धुरंधर का हाथ

टूर्नामेंट छक्के
साल 2017 107*
साल 2009/10 92
साल 2013 68
साल 2000/01 58
साल 2004 57
साल 2006/07 54
साल 2002/03 48
साल 1998/99 42

लेकिन साल 2017 में खेले जा रहे इस टूर्नामेंट में अब तक सबसे ज्यादा छक्के लग चुके हैं। इस टूर्नामेंट में अब तक बल्लेबाजों ने कुल 107 बार गेंदों को 6 रनों के लिए बाउंड्री के बाहर भेजा है। साल 2017 में खेले जा रहे इस टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए फाइनल मुकाबले में ये आंकड़ा 100 के पार पहुंच गया। पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने भारत के खिलाफ कुल 9 छक्के जड़े। आपको बता दें कि चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला खेला जा रहा है। पाकिस्तान की टीम ने भारत के सामने जीत के लिए 339 रनों का लक्ष्य रखा है।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी पाकिस्तान की टीम ने 50 ओवरों में 4 विकेट खोकर 338 रनों का स्कोर बनाया। फाइनल में भारत के खिलाफ पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने शानदार बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया और कई रिकॉर्ड बनाए। पाकिस्तान की इस पारी में 1 शतक और 2 अर्धशतक लगे। सलामी बल्लेबाज फखर जमान ने जहां (114) रनों की शानदार पारी खेली। तो वहीं मोहम्मद हफीज ने (57) और अजहर अली ने (59) रनों की पारी खेली। खबर लिखे जाने तक भारत ने 40 रनों के भीतर ही 2 विकेट खो दिए थे।