शिखर धवन को गेंदबाजी कराते शदब खान © Getty Images
शिखर धवन को गेंदबाजी कराते शदब खान © Getty Images

चैंपियंस ट्रॉफी का पहला मैच 124 रनों से हारने के बाद पाकिस्तान टीम के गेंदबाजों ने इस टूर्नामेंट में उनकी वापसी कराई, खासकर पाक टीम के तेज गेंदबाज। पाकिस्तान के तेज गेंदबाजों ने विपक्षी टीम के बल्लेबाजों को क्रीज पर टिकने का मौका ही नहीं दिया और टीम इंडिया के खिलाफ भी वह यही रणनीति अपनाएंगे लेकिन गौतम गंभीर को लगता है कि भारत के बल्लेबाजों को पाकिस्तान के तेज गेंदबाजों से कोई खतरा नहीं है।

टीम इंडिया के बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा, ” भारत-पाक मुकाबला कई सालों से भारत की बल्लेबाजी बनाम पाकिस्तान की गेंदबाजी रहा है। इससे पहले यह शोएब अख्तरउमर गुल और हमारे बीच होता था और अब मोहम्मद आमिर उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज है। टूर्नामेंट में अब तक सपाट विकेट को देखते हुए मुझे भारत के लिए कोई खतरा नहीं दिखता। हो सकता है कि अगर हालात अच्छे होते हैं तो मो.आमिर साधारण से कुछ बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते हैं।” [ये भी पढ़ें: चैंपियंस ट्रॉफी 2017: धमाकेदार फाइनल मैच के लिए तैयार हैं भारत-पाकिस्तान]

मौजूदा पाकिस्तान टीम में मोहम्मद आमिर, जुनैद खान और हसन अली जैसे तेज गेंदबाज हैं जो कि पिछले मैचों में शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं। वहीं गंभीर ने ये भी कहा कि विराट कोहली को उमेश यादव को टीम में वापस लाना चाहिए। उन्होंने कहा, “मैं जानता हूं कि यह काफी मुश्किल है लेकिन ओवल की पिच के उछाल को देखते हुए मैं उमेश को खिलाना चाहूंगा। इसके अलावा कोई भी एशियाई टीम आमतौर पर स्पिन के खिलाफ सहज होती है जिस वजह से मैं उमेश को तरजीह दूंगा, हालांकि, अश्विन भी शानदार प्रतिस्पर्धी हैं।”