टीम इंडिया  © Getty Images
टीम इंडिया © Getty Images

टीम इंडिया से बाहर चल रहे ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे लीग मैच से पहले टीम इंडिया को एक बड़े खतरे से आगाह किया है। ये खतरा विपक्षी टीम नहीं बल्कि इंग्लैंड का मौसम है। दरअसल अब तक चैंपियंस ट्रॉफी के दो बड़े मैच बारिश की भेंट चढ़ चुके हैं। ऐसे में जीत की सोच से मैदान में उतर रही टीम इंडिया को कुछ और पहलुओं पर भी विचार करना होगा। इस बारे में हरभजन ने कहा, “हमें भूलना नहीं चाहिए की इंग्लैंड का मौसम कितना अप्रत्याशित है, पहले ही दो मैच बारिश की वजह से दो मैच रद्द हो चुके हैं और मैं दिल से यही चाहता हूं कि इस मैच में बारिश का साया ना पड़े। अगर ये 50-50 ओवर का मैच होता है तो श्रीलंका टीम भारत को कुछ खास परेशान नहीं कर पाएगी। अगर मैच बारिश की वजह से 30-30 या 20-20 ओवर का होता है तो नतीजा किसी भी पक्ष में जा सकता है। मुझे ये बताने की जरूरत नहीं है कि डकवर्थ लुइस नियम को समझना कितना मुश्किल है।”

हरभजन ने पाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच में टीम इंडिया के प्रदर्शन की काफी तारीफ की, खासकर भारतीय गेंदबजों से वह काफी प्रभावित दिखे। उन्होंने कहा, “भारत ने अपने पहले मैच से काफी सकारास्तमक चीजें हासिल की हैं। गेंदबाजों में भी शानदार प्रदर्शन किया था लेकिन मैं गेंदबाजी में और सुधार देखना चाहूंगा। मुझे स्वीकार करना पड़ेगा कि मैं भारत की खराब फील्डिंग से काफी हैरान हुआ था। कई ऐसे कैच थे जो नहीं छोड़ें जाने चाहिए थे। मुझे यकीन है कि सपोर्ट स्टाफ भी इस पक्ष पर ध्यान देगा। मुझे श्रीलंका के खिलाफ और भी बेहतर टीम इंडिया को देखने की उम्मीद रहेगी।” [ये भी पढ़ें: श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टीम इंडिया की 100% जीत]

हरभजन ने टीम इंडिया को श्रीलंका के एंजेलो मैथ्यूज, निरोशन डिकवाला और लसिथ मलिंगा के खिलाफ सावधानी बरतने की सलाह दी। हरभजन का मानना है कि ओवल की पिच पर भारतीय टीम के जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और रवींद्र जडेजा को काफी मदद मिलेगी। उन्होंने ये भी कहा कि अगर टीम इंडिया केवल 70 प्रतिशत क्षमता के साथ भी खेलेगी तो वो ये मैच जीत जाएगी।