हार्दिक पांड्या © Getty Images
हार्दिक पांड्या © Getty Images

भारतीय टीम के युवा ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की इस समय हर जगह तारीफ हो रही है। हार्दिक ने पाकिस्तान के खिलाफ मैच में छोटी लेकिन शानदार पारी खेली थी। पांड्या को महेंद्र सिंह धोनी से पहले बल्लेबाजी करने भेजा गया था और उन्होंने कप्तान के इस फैसले को सही साबित किया। हालांकि हार्दिक को पता नहीं था कि उन्हें बल्लेबाजी करने भेजा जाएगा। पांड्या ने आईसीसी की आधिकारिक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया।

हार्दिक ने कहा, “46वें ओवर में जब कोच ने मुझसे कहा कि अगले बल्लेबाज तुम हो, जाओ तैयार हो जाओ तब मुझे पता चला। जाहिर है कि मैं जल्दी से पैड पहनकर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हो गया और जैसे ही मैने अपने दस्तानें पहने, मैं सीधे मैदान में चला गया क्योंकि युवी पा आउट हो गए थे।” कप्तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले को हार्दिक की काबिलियत पर भरोसा था जिसे हार्दिक ने सही साबित किया। हार्दिक ने इमाद वसीम के ओवर में तीन लगातार छक्के जड़े थे। इस बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “जब मैने बांए हाथ के स्पिनर को देखा तो मुझे समझ आ गया था कि मैं इसके खिलाफ खेल सकता हूं। यह सब केवल आत्मविश्वास की बात है। मुझे लगता कि क्रिकेट खेलते समय आपको खुद पर विश्वास होना चाहिए। अगर आप को खुद पर भरोसा है तो आप सही फैसला लेते हैं जिसका आपको सही नतीजा मिलता है।” [ये भी पढ़ें: हरभजन सिंह ने महेंद्र सिंह धोनी को बताया चैंपियन]

पांड्या हर एक मैच के साथ एक बड़े खिलाड़ी के रूप में उभर रहे हैं। कोहली ने पहले लीग मैच में पांड्या को रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शमी जैसे दिग्ग्ज खिलाड़ियों से ज्यादा तरहीज दी। हालांकि पांड्या की गेंदबाजी उतनी कारगर नहीं दिख रही है लेकिन उनकी बल्लेबाजी में लगातार सुधार देखने को मिल रहा है। चैंपियंस ट्रॉफी में पांड्या टीम इंडिया के लिए अहम भूमिका अदा कर सकते हैं।