आमिर सोहेल © Getty Images
आमिर सोहेल © Getty Images

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान आमिर सोहेल ने इस बात से इनकार किया कि इंग्लैंड में आईसीसी चैम्पियंस टाफी में पाकिस्तान की उलटफेर भरी जीत के पीछे किसी तरह गड़बड़ी थी। पूर्व राष्टीय चयनकर्ता सोहेल तब से आलोचनाओं के घेरे में आ गये हैं, जब उन्होंने टीवी चैनल पर कहा कि पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद को ज्यादा खुश नहीं होना चाहिए। सोहेल ने कहा था, किसी को सरफराज को बताना चाहिए आपने कुछ खास नहीं किया है। आपके लिए ये मैच किसी और ने जीते हैं। आपको ज्यादा खुश होने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम सभी जानते हैं कि क्या होता है और क्या नहीं।

आमिर सोहेन ने कहा था कि ‘अगर आप मुझसे पूछो कि सरफराज के लिए ये मैच जीतने में किसने मदद की तो मैं सिर्फ यही कहूंगा कि अल्लाह और लोगों की दुआओं ने, लेकिन मैं उन लोगों के नाम का खुलासा नहीं करूंगा जिनकी वजह से ये मैच जीते गये। हालांकि जब आमिर सोहेल को ये महसूस हुआ कि उन्होंने कुछ ज्यादा ही बोल दिया तो सोहेल ने स्पष्टीकरण जारी किया, जिसमें उन्होंने कहा कि वह आपा खो बैठे जब उन्हें पता चला कि सरफराज ने श्रीलंका के खिलाफ जीत को पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद को समर्पित करने से इनकार कर दिया है जिनका उस दिन 60वां जन्मदिन था। ये भी पढ़ें-चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के मैच थे फिक्स, टीम को फाइनल में पहुंचाया गया?

सोहेल ने कहा, मैंने तब टिप्पणी की थी, जब मैंने सरफराज की टिप्पणी वाली रिपोर्ट सुनी कि उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ अपने प्रदर्शन को समर्पित करने से इनकार कर दिया था और कहा था कि मियांदाद ने टीम की काफी आलोचना की थी। आमिर सोहेल ने कहा, ‘मैंने एक दूसरी चीज कही थी कि इस मैच को जिताने वाले उस व्यक्ति का नाम नहीं बताया जा सकता, जिसने यह जीत आसान की। हालांकि मैंने मैच फिक्सिंग या किसी अन्य गड़बड़ी के बारे में कोई बात नहीं की। मेरे बयान को गलत समझा गया।’