शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे © IANS
शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे © IANS

टीम इंडिया को चैंपियंस ट्रॉफी में अपना पहला मुकाबला पाकिस्तान के खिलाफ 4 जून को खेलना है, लेकिन अपने अभियान से पहले ही टीम इंडिया की एक बड़ी कमी उजागर हो गई है। ओवल में खेले गए दो वॉर्मअप मुकाबलों में टीम इंडिया की ओपनिंग जोड़ी नहीं चली। न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के खिलाफ टीम इंडिया के ओपनर फेल रहे जो कि टीम इंडिया के लिए किसी बड़ी समस्या से कम नहीं है।

ओपनिंग फ्लॉप

किसी भी टीम की कामयाबी के लिए उसके ओपनर्स की भूमिका खासा अहम होती है लेकिन टीम इंडिया की ओपनिंग जोड़ी रंग में नहीं दिख रही है। न्यूजीलैंड के खिलाफ ओपनिंग जोड़ी 30 रन और बांग्लादेश के खिलाफ 3 रन ही जोड़ सकी। पहले मुकाबले में टीम इंडिया के लिए शिखर धवन और अजिंक्य रहाणे ने ओपनिंग की जिसमें रहाणे 7 रन पर पैवेलियन लौट गए। बांग्लादेश के खिलाफ रोहित शर्मा और धवन ओपनिंग के लिए उतरे जिसमें रोहित शर्मा ने 1 रन पर अपना विकेट दे दिया। ये भी पढ़ें-अनिल कुंबले जमाते हैं धौंस, कप्तान विराट कोहली हुए नाराज

आपको बता दें 2013 में जब टीम इंडिया ने चैंपियंस ट्रॉफी पर कब्जा किया था तो उसकी सबसे बड़ी वजह ओपनिंग जोड़ी ही थी। 2013 में रोहित शर्मा और शिखर धवन ने टीम इंडिया को लगभग हर मुकाबले में सधी शुरुआत दिलाई थी। रोहित शर्मा और शिखर धवन ने 5 में से 2 मुकाबलों में शतकीय और 2 मैचों में अर्धशतकीय साझेदारी की थी। इन दोनों बल्लेबाजों ने द.अफ्रीका के खिलाफ 127, वेस्टइंडीज के खिलाफ 101, पाकिस्तान के खिलाफ 58 और श्रीलंका के खिलाफ 77 रन जोड़े थे। साफ है टीम इंडिया को अगर इस बार भी चैंपियन बनना है तो उसके ओपनरों को रन बनाने ही होंगे और मजबूत शुरुआत देनी होगी।