युवराज सिंह और एम एस धोनी © AFP
युवराज सिंह और एम एस धोनी © AFP

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने युवराज सिंह और एम एस धोनी पर सवाल खड़े किए हैं। अजहरुद्दीन ने कहा, ”दोनों ही खिलाड़ी अब पहले जैसे फिनिशर नहीं रहे। वो पिछले 14-15 सालों से क्रिकेट खेल रहे हैं और ऐसे में लगातार अच्छा खेलना मुमकिन नहीं है। युवराज सिंह की बल्लेबाजी इंग्लैंड के हालातों के अनुकूल नहीं है। युवराज इंग्लैंड के खिलाफ शतक लगाने के बाद से अच्छा नहीं कर सके हैं।”

हालांकि इस दौरान ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने दोनों खिलाड़ियों का समर्थन किया और कहा, ”मैं निश्चित रूप से धोनी और युवराज के साथ जाता, दोनों ही खिलाड़ी बेहद अनुभवी हैं। उनके लिए ये मौका है कि वो अपनी मौजूदगी दर्ज कराएं। टीम में अनुभव और युवा खिलाड़ियों का मिश्रण होना चाहिए। अगर मुझे रहाणे और युवराज में से किसी खिलाड़ी को चुनना पड़ा तो मैं तो युवराज को अपनी टीम में चुनूंगा।” आपको बता दें कि युवराज सिंह ने अपने करियर का आगाज साल 2000 में चैंपियंस ट्रॉफी में किया था। इसके अलावा युवराज ने हाल ही में खत्म हुए आईपीएल में 12 मैचों में 252 रन बनाए थे। युवराज सिंह ने 296 वनडे मैचों में 36.80 के औसत के साथ 8,539 रन बनाए हैं। ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले से पहले टीम इंडिया ने जीत लिया दिल

आपको बता दें कि चैंपियंस ट्रॉफी में भारत को अपने अभियान की शुरुआत 4 जून से पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले से करनी है। टूर्नामेंट में टीम इंडिया का दूसरा मुकाबला 8 जनवरी को लंदन के केनिंग्टन ओवल में श्रीलंका के खिलाफ होगा। भारत का आखिरी लीग मैच 11 जनवरी को लंदन के केनिंग्टन ओवर में ही खेला जाएगा। टूर्नामेंट का पहला सेमीफाइनल मुकाबला 14 जून को कार्डिफ के सोफिया गार्डन में खेला जाएगा, जबकि दूसरा सेमीफाइनल मैच 15 जून को बर्मिंघम के एजबेस्टन में खेला जाएगा। फाइनल मुकाबला 18 जून को लंदन के केनिंग्टन ओवल में खेला जाएगा।