पाकिस्तान टीम ने भारत को हरा पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी जीती है  © Getty Images
पाकिस्तान टीम ने भारत को हरा पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी जीती है © Getty Images

रविवार को हुए चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल मैच में सरफराज अहमद की टीम ने वो कर दिखाया जो इतने सालों में कोई भी पाकिस्तानी टीम नहीं कर पाई थी। उन्होंने टीम इंडिया को हराकर पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी जीती। इस शानदार जीत के बाद पूरे पाकिस्तान में जश्न का माहौल है। तालिबान द्वारा नियंत्रित अफगानिस्तान, कश्मीर और गल्फ क्षेत्रों में भी पाकिस्तानी टीम की जीत का जश्न मनाया गया। पाकिस्तान टीम के प्रशंसको को लंबे समय के बाद अपनी टीम की जीत देखने का मौका मिला है। पाकिस्तान टीम वनडे रैंकिंग में आठवें नंबर की टीम के रूप में इस टूर्नामेंट में शामिल हुई थी लेकिन अंत में वह विजेता बनकर उभरे।

तालिबान में टीवी देखते पाकिस्तानी प्रशंसक  © Rahat Shinwari
तालिबान में टीवी देखते पाकिस्तानी प्रशंसक © Rahat Shinwari

सोमवार को फोटोग्राफर राहत शिनवारी ने एक तस्वीर पोस्ट की थी जिसमें करीब 40 आदिवासी उत्तर पश्चिमी सीमा से लगे पेशावर में कार की बैटरी से चल रही टीवी पर भारत-पाकिस्तान का फाइनल मैच देख रहे थे। यहां तक ​​कि तालिबानियों ने उस दिन के लिए सभी बंधकों को रिहा कर दिया था। वह हवा में फायर कर पाक टीम की जीत का जश्न मना रहे थे। कुछ इसी तरह का माहौल कश्मीर, बहरीन और दुबई में भी था। [ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मुकाबले में विराट कोहली ने लिया था गलत फैसला?]

पाकिस्तान टीम के लिए ये जीत कई मायनों में अहम है, पाक टीम ने 2009 में श्रीलंका टीम पर हुए हमले के बाद से अपनी जमीन पर कोई भी मैच नहीं खेला है। वह पिछले काफी समय से यूएई में पाक टीम के प्रशंसकों से दूर मैच खेल रहे हैं। इस जीत के बाद पाकिस्तान क्रिकेट के साथ कई खिलाड़ियों का भविष्य भी बदल गया है।