सरफराज अहमद © Getty Images
सरफराज अहमद © Getty Images

चैपियंस ट्रॉफी के पहले सेमीफाइनल मुकाबले में पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 8 विकेट से हराकर पहली बार टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बना ली। पाकिस्तान की जीत का जश्न उसके नागरिकों ने तो मनाया ही लेकिन साथ ही पाकिस्तान की कामयाबी का जश्न कश्मीर में भी जमकर मनाया गया। पाकिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज ने जैसे ही जीत का चौका लगाया, उत्तरी कश्मीर में लोगों ने पटाखे फोड़ने शुरू कर दिए।

सिर्फ पटाखे ही नहीं पाकिस्तान की जीत के बाद आजादी के नारे भी लगाए गए। शोपियां जिले के चिलिपोरा सुगन इलाके में भी आतंकियों ने हवा में गोलीबारी कर पाकिस्तान के फाइनल में पहुंचने की खुशी मनाई। अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक ने भी पाकिस्तान की जीत पर ट्वीट किया। मीरवाइज ने लिखा, ‘जब हमने तरावी खत्म किया तो पटाखों की आवाज सुनी। पाकिस्तान ने बेहतरीन खेल दिखाया। फाइनल के लिए शुभकामनाएं !’

बता दें कि पाकिस्तान ने शानदार खेल दिखाते हुए बुधवार को सेमीफाइनल में इंग्लैंड को 8 विकेट से करारी शिकस्त दी। पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए इंग्लैंड को 49.5 ओवर में 211 रनों पर ही रोक दिया और इसके बाद इस आसान लक्ष्य को उसने 37.1 ओवरों में दो विकेट खोकर हासिल कर लिया और फाइनल में जगह बनाई। ये भी पढ़ें- पाकिस्तानी खिलाड़ियों को मिल गया अंग्रेजी बोलने से बचने का रास्ता

पाकिस्तान के लिए सबसे ज्यादा अजहर अली ने 76 रन बनाए। अजहर के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे फखर जमान ने एक बार फिर अपने हाथ दिखाए और 57 रनों की शानदार पारी खेली। दोनों ने पहले विकेट के लिए 118 रनों की साझेदारी कर टीम की जीत की बुनियाद रखी। 3 विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज हसन अली को मैन ऑफ द मैच चुना गया।