विराट कोहली © Getty Images
विराट कोहली © Getty Images

चैंपियंस ट्रॉफी में द.अफ्रीका के खिलाफ होने वाला मुकाबला टीम इंडिया के लिए करो या मरो की तरह है। अगर इस मुकाबले में टीम इंडिया हार गई तो वो टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी और जीत हासिल हुई तो सेमीफाइनल का टिकट मिलेगा। इस मैच की अहमियत को देखते हुए टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को नेट्स पर जमकर बल्लेबाजी का अभ्यास किया। खास बात ये रही कि उन्होंने लाल गेंद से बैटिंग की प्रैक्टिस की।

अब आप सोच रहे होंगे कि चैंपियंस ट्रॉफी तो सफेद गेंद से खेली जा रही है तो विराट लाल गेंद से अभ्यास क्यों कर रहे हैं? दरअसल श्रीलंका के खिलाफ मुकाबले में विराट स्विंग होती गेंद पर विकेट दे बैठे थे। आउट होने से पहले भी वो ऑफ स्टंप के बाहर जाती गेंदों पर परेशान दिखे थे ऐसे में उन्होंने अपनी इस कमजोरी को दूर करने की ठानी और द.अफ्रीका के खिलाफ मैच से पहले लाल गेंद से प्रैक्टिस की जो कि सफेद गेंद से ज्यादा स्विंग होती है।

भारतीय कप्तान ने लाल ड्यूक गेंद से अभ्यास किया, जहां पर फील्डिंग कोच आर श्रीधर, थ्रोडाउन विशेषज्ञ राघवेंद्र और बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने उन्हें थ्रोडाउन पर अभ्यास कराया। बांगड़ इस बीच टेस्ट मैचों में उपयोग की जाने वाली लाल ड्यूक गेंद से थ्रोडाउन करा रहे थे। वनडे से पहले अमूमन लाल गेंद से बल्लेबाज अभ्यास नहीं करते हैं लेकिन लाल गेंद हवा में ज्यादा स्विंग होती है और इसलिए कोहली ने उस पर अभ्यास किया।  ये भी पढ़ें-इंग्लैंड से हारने के बाद सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हुआ ऑस्ट्रेलिया

चैंपियंस ट्रॉफी में विराट कोहली का सफर मिलाजुला रहा है। पहले मैच में उन्होंने शानदार बल्लेबाजी की थी और 81 रन बनाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई थी। श्रीलंका के खिलाफ विराट का बल्ला नहीं चला और वो शून्य पर पैवेलियन लौट गए जिसके बाद टीम इंडिया को हार झेलनी पड़ी। अब टीम इंडिया का मुकाबला द.अफ्रीका से है जिसे जीतना भारत के लिए बेहद जरूरी है। शायद इसीलिए विराट कोहली इस मुकाबले से पहले जमकर अभ्यास करते नजर आ रहे हैं।