ICC CRICKET WORLD CUP 2019: Gautam Gambhir lashes out at Indian Selectors for Amabati Rayudu’s retirement
Gautam Gambhir and Ambati Rayudu

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने मध्यक्रम के बल्लेबाज अंबाती रायडू के खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने के बाद एमएसके प्रसाद की अगुआई वाले चयन पैनल को निशाना बनाते हुए कहा कि पांच चयनकर्ताओं ने मिलकर इतने रन नहीं बनाए जितने रायडू ने अपने करियर में बनाए।

पढ़ें: ‘रायडू के लिए वर्ल्‍ड कप टीम से अनदेखी पीड़ादायक रही होगी’

मौजूदा आईसीसी विश्व कप के लिए भारतीय टीम से अनदेखी के बाद रायडू ने बुधवार को बीसीसीआई को लिखे ईमेल में बिना कारण स्पष्ट किए खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की।

गंभीर ने कहा, ‘मेरे अनुसार इस विश्व कप में चयनकर्ताओं ने पूरी तरह से निराश किया। रायडू का संन्यास लेने का फैसला उनके कारण है और इसके लिए उनकी फैसला करने का कौशल जिम्मेदार है।’

ब्रिटेन में चल रहे विश्व कप के लिए रायडू आधिकारिक स्टैंड बाई सूची में शामिल थे लेकिन ऑलराउंडर विजय शंकर के चोटिल होकर बाहर होने के बावजूद उनकी अनदेखी की गई।

टीम प्रबंधन के जोर देने पर सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को टीम में शामिल किया गया और पता चला है कि इन फैसलों से रायडू काफी निराश हैं।

भारत के लिए 58 टेस्ट और 147 वनडे खेलने वाले गंभीर ने चयनकर्ताओं को निशाना बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते हुए कहा कि पांच चयनकर्ताओं ने मिलकर उतने रन नहीं बनाए जितने रायडू ने अपने करियर में बनाए।

पढ़ें: बेयरस्‍टो-रॉय की लगातार तीसरी बार 100 रन की साझेदारी, NZ के सामने 306 का लक्ष्‍य

अब भारतीय जनता पार्टी के सांसद गंभीर ने कहा, ‘पांच चयनकर्ताओं ने मिलकर उतने रन नहीं बनाए जितने रायडू ने अपने करियर में बनाए। उसके संन्यास को लेकर मैं बेहद दुखी हूं। रिषभ पंत और मयंक अग्रवाल को विश्व कप में चोटिल खिलाड़ियों की जगह चुना गया और रायडू की जगह अगर कोई और होता तो उसे भी इतना ही बुरा लगता।’

गंभीर ने संन्यास लेने के रायडू के फैसले को भारतीय क्रिकेट के लिए दुखद लम्हा बताया।

इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘उसकी तरह का क्रिकेटर जो आईपीएल और देश के लिए इतना अच्छा खेला हो, तीन शतक और 10 अर्धशतक जड़े हों और इसके बावजूद अगर खिलाड़ी को संन्यास लेना पड़े तो यह भारतीय क्रिकेट के लिए दुखद क्षण है।’

रायुडू ने भारत के लिए 55 वनडे इंटरनेशनल मैचों में 47.05 की औसत से 1,694 रन बनाए।