ICC grants T20I status to all 104 member countries
Richardson© Getty Images

अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने अपने सभी 104 सदस्‍य देशों (पुरुष और महिला) को टी-20 टीम का दर्जा दे दिया है। आईसीसी के सीईओ डेव रिचडर्सन ने कोलकाता में एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में इसकी पुष्टि की। उन्‍होंने कहा कि इस फॉर्मेट के लिए एक ग्‍लोबल सिस्‍टम रैंकिंग लॉन्‍च किया जाएगा।

मौजूदा समय में 18 सदस्‍य देशों को टी- 20 अंतरराष्‍ट्रीय मैच खेलने की मान्‍यता प्राप्‍त है। इनमें 12 पूर्ण सदस्‍यों के अलावा स्‍कॉटलैंड, नीदरलैंड, हांगकांग, यूएई, ओमान और नेपाल की टीमें शामिल हैं।

आईसीसी के सीईओ डेव रिचडर्सन ने कहा, ‘सभी देशों की महिला क्रिकेट टीमों को एक जुलाई, 2018 से टी-20 खेलने का दर्जा दे दिया जाएगा। जबकि पुरुष टीमों के बीच होने वाले मैचों को एक जनवरी, 2019 से टी-20 में खेलने का दर्जा मिल जाएगा।

बॉल टैंपरिंग और स्‍लेजिंग पर होगी कड़ी कार्रवाई

मैदान पर खिलाड़ियों के खराब व्‍यवहार पर लगाम लगाने के लिए आईसीसी ने मौजूदा कोड ऑफ कंडक्ट में बदलाव करने की तैयारी कर ली है। आईसीसी की बैठक में कहा गया कि दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज के दौरान हुई बॉल टैंपरिंग और स्लेजिंग जैसी घटनाओं को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे। डेव रिचर्डसन ने कहा, ‘हम चाहते हैं कि बॉल टैंपरिंग और स्लेजिंग के लिए सख्त और भारी जुर्माना हो। हम इसके लिए दंड चाहते हैं। जुर्माना इसका सही जवाब साबित नहीं हो रहा है। क्रिकेट कमेटी इसके बारे में योजना तैयार करेगी।’