ICC has Proof of corruption in Ajman All Stars Meet but no right to take action
आईसीसी

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने संयुक्त अरब अमीरात की टी-20 लीग में भ्रष्टाचार की अपनी जांच को जारी रखने का फैसला किया है। आईसीसी का कहना है कि उनके पास इस लीग में भ्रष्टाचार होने के सबूत है। हालांकि फिर भी आईसीसी इस लीग के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर सकता है। अजमान टी-20 ऑल स्टार्स लीग जनवरी के अंत में तीन दिन तक पांच मैचों की सीरीज खेली गई थी। दरअसल इस लीग को ना ही स्थानीय अजमान क्रिकेट परिषद से मान्यता मिली थी न ही अमीरात क्रिकेट बोर्ड और आईसीसी से, इस वजह से काउंसिल कोई आधिकारिक कार्रवाई नहीं कर सकता है।

अजमान ऑल स्टार लीग के मैच के खिलाफ फिक्सिंग के आरोपों की जांच करेगी आईसीसी
अजमान ऑल स्टार लीग के मैच के खिलाफ फिक्सिंग के आरोपों की जांच करेगी आईसीसी

आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी ईकाई (एसीयू) को इसमें भ्रष्टाचार का शक तब हुआ जब उसने कुछ ऐसे वीडियो देखे जिसमें खिलाड़ी संदेहास्पद तरीके से आउट हुए थे। बल्लेबाज आसानी से मामूली गेंद पर स्टम्पिंग हो गए थे और कई आसान रन आउट भी हुए थे। आईसीसी की एसीयू के महा प्रबंधक एलेक्स मार्शल ने कहा कि कई लोगों से बात करने के बाद इस बात के पुख्ता सबूत मिले हैं कि यह भ्रष्ट टूर्नामेंट है।

मार्शल ने कहा, “यह टूर्नामेंट मान्यता प्राप्त नहीं था न ही इसे अमीरात क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) से मान्यता मिली थी इसलिए न ही ईसीबी और आईसीसी के पास भ्रष्टाचार रोधी नियम के तहत इस पर कार्रवाई करने का अधिकार है। हालांकि इसमें भ्रष्टाचार है इसके पुख्ता सबूत हैं और इससे क्रिकेट की छवि पर धब्बा लगा है इसलिए पर हमारी जांच जारी रहेगी। अभी जारी जांच टूर्नामेंट के आयोजकों की पहचान करने पर केंद्रित है।” पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और मैच फिक्सिंग मामले में सजा काट चुके सलमान बट इस लीग में खेलने वाले खिलाड़ियों में शामिल हैं।