ICC may have separate broadcast rights for women’s cricket
Indian women cricket team (file image)

हाल में ऑस्ट्रेलिया में संपन्न आईसीसी महिला टी20 विश्व कप को दुनिया भर में जमकर सराहा गया. इस दौरान कई रिकॉर्ड बने तो कई टूटे. ऑस्ट्रेलिया की महिला टीम रिकॉर्ड 5वीं बार वर्ल्ड चैंपियन बनी. ऑस्ट्रेलिया में विश्व कप वीडियो को 1.1 अरब लोगों ने देखा और यह महिला क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला टूर्नामेंट रहा. भारत की ओर से युवा बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने अपनी बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया.

टिम पेन ने माना था कप्‍तान बनने का मजबूत दावेदार, अब पैट कमिंस ने दी कुछ ऐसी प्रतिक्रिया

ऑस्ट्रेलिया में महिला टी20 विश्व कप की अपार सफलता के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट परिषद (आईसीसी) 2023-31 चक्र के प्रसारण अधिकारों के लिए अलग से बोली आमंत्रित करने के विकल्प तलाश सकती है.

आईसीसी बोर्ड को भरोसा है कि महिलाओं के खेल के लिए अलग से प्रसारण अधिकार खरीदने के लिए बोलीदाता मिल सकता है.

आईसीसी बोर्ड के एक वरिष्ठ सदस्य ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, ‘इसके बारे में विचार किया जा रहा है, हालांकि अभी तक कोई भी फैसला नहीं लिया गया है. लेकिन इसमें संभावना है.’ उन्होंने कहा,‘महिला टी20 को जितनी बड़ी संख्या में लोगों ने देखा, उसे देखते हुए हम इसे तलाशना चाहिए.’

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने ECB को दिया सुझाव, बोले- चैंपियनशिप को छोटा करने की बजाय…

भारतीय महिला क्रिकेट भी दिन प्रतिदिन लोकप्रिय हो रहा है जिसमें युवा खिलाड़ी शेफाली वर्मा के साथ स्मृति मंधाना और जेमिमा रोड्रिग्स जैसी खिलाड़ियों का भी योगदान रहा. इस अधिकारी ने कहा, ‘बिल्कुल. 110 करोड़ वीडियो व्यू को देखते हुए यह पुरुष विश्व कप के बाद दूसरा सबसे ज्यादा सफल टूर्नामेंट रहा.’ भारतीय महिला टीम का सफर सेमीफाइनल में खत्म हो गया था जहां उसे ऑस्ट्रेलिया ने पराजित किया था.